Moneycontrol » समाचार » राजनीति

पुलवामा में जवानों की शहादत में कैसा फायदा, विपक्ष के सवालों में कितना दम

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के सवालों पर घमासान छिड़ गया है।
अपडेटेड Feb 16, 2020 पर 08:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पुलवामा में आतंकवादी हमले को एक साल हो गया है। लेकिन विपक्षी पार्टियों के सवालों का सिलसिला अभी भी जारी है। कुछ सवाल वाजिब लग रहे हैं, तो कुछ गैरवाजिब। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके ऐसा सवाल पूछ लिया, जिस पर घमासान छिड़ गया। आतंकवादी हमले से किसको फायदा हुआ, ये तो नहीं पता, लेकिन बीजेपी को कांग्रेस को घेरने का मौका जरूर मिल गया। दूसरी पार्टियां भी कुछ सवाल उठा रही हैं जिनके जवाब अभी तक नहीं मिले हैं।


पुलवामा में आतंकवादी हमले की बरसी पर पूरा देश शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दे रहा है। 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में RDX से भरी गाड़ी CRPF के काफिले में घुस गई थी जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले के बाद बहुत कुछ बदला लेकिन सियासत नहीं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के सवालों पर घमासान छिड़ गया है। राहुल ने ट्वीट किया आज जब हम पुलवामा हमले में CRPF के 40  शहीदों को याद कर रहे हैं, तब हमें पूछना चाहिए कि हमले से सबसे ज्यादा किसे फायदा हुआ? हमले की जांच में क्या निकला? और सुरक्षा में चूक के लिए BJP सरकार में किसकी जवाबदेही तय हुई?


CPM भी सरकार से सवाल पूछ रही है। पार्टी के नेता मोहम्मद सलीम कुछ ऐसे सवाल पूछ रहे हैं जिनका जवाब अभी तक नहीं मिल पाया है। राहुल और मोहम्मद सलीम के सवालों को लेकर बीजेपी आक्रामक हो गई है। बीजेपी का कहना है कि राहुल गांधी शहादत में भी नफा नुकसान देख रहे हैं। बीजेपी कह रही है कि राहुल और सोनिया गांधी माफी मांगें।


पुलवामा में हमले के बाद सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक करके आतंकवादी कैंपों पर हमला किया था जिसमें कई आतंकवादी ढेर हो गए थे। विपक्षी पार्टियों ने हमले में आतंकवादियों के मारे जाने के दावे पर सवाल खड़े किए थे। फिलहाल पुलवामा हमले की NIA जांच चल रही है। पिछले महीने जम्मू-कश्मीर पुलिस का डीएसपी देवेंद्र सिंह आतंकवादियों के साथ पकड़ा गया। इसके पुलवामा हमले से कनेक्शन की भी जांच हो रही है।


सवाल ये है कि क्या राहुल ने पुलवामा हमले से फायदे का सवाल पूछकर सेल्फ गोल कर लिया है? लेकिन पुलवामा हमले को लेकर विपक्ष के दूसरे सवाल भी गैरवाजिब हैं क्या? बड़ी मात्रा में RDX का सीमापार से भारत आना और CRPF के काफिले पर हमले की साजिश के बारे में अभी तक क्या पता चला है? इतनी बड़ी सुरक्षा चूक के लिए किसकी जवाबदेही तय की गई? या इन सवालों का पूछा जाना भी किसी की देशभक्ति पर सवालिया निशान लगा देता है?




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।