कौन बनेगा 2019 में विपक्ष का सबसे बड़ा चेहरा! -
Moneycontrol » समाचार » राजनीति

कौन बनेगा 2019 में विपक्ष का सबसे बड़ा चेहरा!

प्रकाशित Wed, 08, 2018 पर 08:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

खबरों के दम पर अपना सिक्का जमाने वाले हमारे सहयोगी चैनल न्यूज18 इंडिया देश के सबसे बड़े चुनाव के लिए भी तैयार है। इसलिए न्यूज18 इंडिया में हो रही है बैठक जहां पर देश के बड़े नेता रख रहे हैं अपनी बात। 2019 में क्या होंगे देश के सबसे बड़े मुद्दे, काम आएगा किया हुआ काम या फिर राम जी करेंगे बेड़ा पार। जाति और धर्म पर पड़ेंगे वोट या विकास का मुद्दा फिर होगा सबसे ऊपर। 2019 की चुनावी बिसात से पहले क्या है देश का मूड, बैठक में चल रहा है विचारों का महामंथन।  


न्यूज18 के कार्यक्रम बैठक में सुब्रमणियन स्वामी, असदुद्दीन ओवैसी और मनीष तिवारी के बीच एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के मुद्दे पर भी जमकर बहस छिड़ी। ओवैसी ने सुब्रमणियन स्वामी पर आरोप लगाया कि सरकार की वजह से एससी/एसटी समुदाय खुद को ठगा महसूस कर रहा है ।


बीजेपी और केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आज केंद्र सरकार जमीन पर शून्य हो गई है। सिंधिया के मुताबिक आज देश में बेरोजगारी, आंतरिक सुरक्षा और महिलाओं पर बढ़ रहे हमले जैसे मुद्दे नहीं उठाए जा रहे हैं बल्कि राहुल गांधी का आंख मारना मुद्दा बनाया जा रहा है। जबकि राहुल गांधी ने पीएम से गले मिलकर उन्हें कांग्रेस की विचारधारा को बताया।


सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस के एम जोसेफ की नियुक्ति और उनकी वरिष्ठता घटाए जाने के मुद्दे पर पहली बार सरकार ने सफाई दी है । न्यूज18 इंडिया की बैठक में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि दूसरे हाई कोर्ट के जजों की वरिष्ठता की अनदेखी नहीं की जा सकती है और जस्टिस के एम जोसेफ की नियुक्ति नियमों और परंपराओं के तहत की गई है।


राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि सरकार अपने काम को छोड़कर अन्य विषयों को मुद्दा बना रही है। पायलट के मुताबिक 4 साल पहले तक मॉब लिंचिंग की घटनाएं नहीं होती थीं। लेकिन अब मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाई जा रही है। पायलट ने कहा कि अब मंदिर, मस्जिद, हिंदू-मुस्लिम मुद्दे बन रहे हैं।


2019 के लोकसभा चुनाव में कौन से मुद्दे हावी रहेंगे इस पर न्यूज18 इंडिया की बैठक में तीखी बहस देखने को मिली। बीजेपी सांसद सुब्रमणियन स्वामी ने दावा किया कि 2019 के चुनाव से पहले राम मंदिर का काम शुरू हो जाएगा। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी और एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने राम मंदिर के मुद्दे पर स्वामी को घेरने की कोशिश की। मनीष तिवारी ने कहा कि चार साल सरकार चलाने के बाद अब सरकार विकास की बातें छोड़कर मंदिर के मुद्दे में लोगों को उलझाने की कोशिश में है। वहीं ओवैसी ने आरोप लगाया कि सरकार लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है।


फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर सरकार लगातार दबाव बना रही है कि इनका गलत इस्तेमाल ना हो। न्यूज18 इंडिया की बैठक के दौरान आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार अभिव्यक्ति की आजादी का सम्मान करती है। लेकिन अपराध को बढ़ावा देने या चुनाव को प्रभावित करने जैसी किसी हरकत को सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी।