Moneycontrol » समाचार » राजनीति

9 नवंबर को लालू की रिहाई के साथ ही 10 नवंबर को नीतीश की विदाई तय: तेजस्वी

बिहार में चुनावी पारा चढ़ता जा रहा है। बिहार में मुकाबला अब तगड़ा होता दिखाई देने लगा है।
अपडेटेड Oct 24, 2020 पर 12:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बिहार में चुनावी पारा चढ़ता जा रहा है। बिहार में मुकाबला अब तगड़ा होता दिखाई देने लगा है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सासाराम, गया और भागलपुर में तीन रैलियां कीं  और विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने लालू परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब RJD-JDU की 18 महीने सरकार रही तब लालू परिवार ने बड़े-बड़े खेल किए। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज बिहार में लालटेन की जरूरत खत्म हो गई है और ये लड़ाई जंगलराज बनाम सुशासन के बीच है। वहीं दूसरी तरफ RJD के तेजस्वी यादव और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक साथ रैली की। तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि वो अब थक चुके हैं और बिहार को नहीं संभाल सकते। राहुल गांधी ने भी हुंकार भरते हुए प्रधानमंत्री मोदी से चीन को लेकर कई सवाल पूछे।


उधर राहुल गांधी ने ने PM पर निशाना साधते हुए कहा कि PM मोदी ने सैनिकों का अपमान किया है।  चीन की सेना ने हमारी 1200 किमी जमीन ले ली है।
जबकि PM ने कहा कि भारत के अंदर कोई नहीं आया। चीन की सेना ने हमारे सैनिकों को शहीद किया। आज PM कहते हैं कि मैं सिर झुकाता हूं। PM ने प्रवासी मजदूरों की मदद नहीं की। उन्होंनें ये भी कहा कि PM ने अमीरों के लिए GST लागू किया।


मोदी-नीतीश पर वार करते हुए तेजस्वी ने कहा कि मैं CM बना तो 10 लाख सरकारी नौकरी दूंगा। PM को बिहार को विशेष राज्य के दर्जे पर जवाब देना चाहिए। उनको बिहार में बेरोजगारी और इंडस्ट्री के अभाव पर जवाब देना चाहिए। नीतीश कुमार अब थक चुके हैं। नीतीश कुमार बिहार को नहीं संभाल सकते। बिहार में 15 साल से डबल इंजन की सरकार है। ब्लॉक या जिले में बिना चढ़ावे के काम नहीं होता। कोरोना फैला तो नीतीश CM आवास में बंद हो गए। नीतीश कुमार को बिहार के लोगों की चिंता नहीं है। नीतीश ने प्रवासी मजदूरों को आने से मना किया था। 9 नवंबर को लालू की रिहाई के साथ ही 10 नवंबर को नीतीश की विदाई तय है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।