Moneycontrol » समाचार » राजनीति

LJP सांसद प्रिंस पासवान के खिलाफ महिला ने लगाया रेप का आरोप, चिराग और चाचा की लड़ाई में आया नया मोड़

अपने चचेरे भाई प्रिंस के खिलाफ रेप के आरोपों पर चिराग पासवान ने कहा कि उन्होंने दोनों को पुलिस से संपर्क करने की सलाह दी थी
अपडेटेड Jun 17, 2021 पर 17:46  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में चिराग पासवान (Chirag Paswan) और उनके चाचा पशुपति पारस के बीच चल रही गुटबाजी ने अब पासवान के चचेरे भाई प्रिंस राज पासवान (Prince Raj Paswan) के खिलाफ यौन उत्पीड़न के एक मामले के खुलासे के साथ एक नया मोड़ ले लिया है। अपने चचेरे भाई प्रिंस पासवान के खिलाफ महिला के यौन शोषण के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर, चिराग पासवान ने कहा कि उन्होंने दोनों को पुलिस से संपर्क करने की सलाह दी थी।


कनॉट प्लेस पुलिस स्टेशन में दिल्ली पुलिस को तीन पेज की शिकायत में एक महिला ने आरोप लगाया है कि प्रिंस पासवान ने दिल्ली के एक होटल में उसे शराब पिलाई और कथित तौर पर उसका यौन उत्पीड़न किया। पुलिस ने कहा है कि शिकायत की वैरीफिकेशेन जा रही है, लेकिन अभी तक कोई FIR दर्ज नहीं की गई है।


रामविलास पासवान के निधन के बाद से कई मुद्दों का सामना कर रही LJP, पशुपति पारस और कुछ बागी सांसदों द्वारा चिराग पासवान को लोकसभा में पार्टी के नेता के रूप में बाहर करने के बाद एक पतन की ओर अग्रसर दिख रही थी।


LJP Crisis: पद से हटाए जाने के बाद भी चिराग ने बनाया नया प्रदेश अध्यक्ष, बोले- मेरे साथ हुआ विश्वासघात


चिराग को LJP की राष्ट्रीय कार्यसमिति की एक आपात बैठक के बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से भी हटा दिया गया है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने अपने पिता रामविलास द्वारा स्थापित पार्टी और परिवार को बनाए रखने के प्रयास किए थे, लेकिन वे असफल रहे।


पासवान ने कहा कि लोकतंत्र में लोग सर्वोच्च हैं और पार्टी में विश्वास रखने वालों को धन्यवाद दिया। पासवान ने मार्च में अपने पिता के सबसे छोटे भाई पारस को लिखा एक पत्र भी शेयर किया, जिसमें उन्होंने पार्टी अध्यक्ष के रूप में अपनी पदोन्नति सहित कई मुद्दों पर अपने चाचा की नाखुशी को उजागर किया था।


ये आरोप लगाते हुए कि फूट के पीछे JDU का हाथ था, जमुई के सांसद पासवान ने कहा, "एक पार्टी के रूप में JDU ने हमेशा दूसरी पार्टियों को बांटने की कोशिश की है, जो उन्हें टक्कर देने के लिए सामने आती हैं। हम पिछले कुछ दिनों में जो कुछ भी हुआ है उसका जवाब देने के लिए कानूनी तरीका तैयार कर रहे हैं। मौजूदा हालात के लिए JDU पूरी तरह जिम्मेदार है।"


उधर पारस ने चिराग पर पलटवार करते हुए कहा, "आपको चिराग पासवान से पूछना चाहिए कि उन्होंने मुझे प्रदेश अध्यक्ष पद से क्यों हटाया? सत्ता न होने पर भी उन्होंने ऐसा किया। हमने अपनी देखरेख में बिहार का चुनाव लड़ा और सभी 6 सांसद जीते। चुनाव आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक, हमें सबसे ज्यादा वोट मिले हैं।"


दिलचस्प बात ये है कि LJP के दोनों गुटों ने अब तक BJP के नेतृत्व वाले NDA के प्रति वफादारी का वादा किया है, हालांकि इस मुद्दे पर न तो भगवा पार्टी और न ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की JDU ने कुछ कहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।