Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

मिलेनियल्स घर खरीदते समय इन 5 बातों का रखते हैं ध्यान

मौजूदा समय में मिलेनियल्स के लिए हाउसिंग सेगमेंट में कई तरह के विकल्प हैं। जिसमें किराए से, को-लिविंग और मालिकाना हक तक शामिल है।
अपडेटेड Feb 19, 2020 पर 09:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत में मिलेनियल्स यानी आसान भाषा में कहें तो युवाओं की आबादी अच्छी खासी है। मिलेनियल्स उन्हें कहा जाता है। जिनका जनम 1980-82 से 2000 के पहले जन्म हुआ हो। यानी 21वीं सदी की शुरुआत में जो वयस्क हुए हैं। उन्हें ही हम युवा आबादा या उभरते हुए युवाओं के तौर पर समझ सकते हैं। 


मिलेनियल्स या जेन वाई पीढ़ी है। जो समझदार स्मार्ट और रिसर्च किए गए दृष्टिकोण में विश्वास रखती है। वो हर सेक्टर में अपनी पहुंच आसानी से बना सकते हैं। मौजूदा समय में मौजूदा समय में मिलेनियल्स के लिए हाउसिंग सेगमेंट में कई तरह के विकल्प हैं। जिसमें किराए से, को-लिविंग और मालिकाना हक तक शामिल है।


डेलॉयट की एक रिपोर्ट के मुताबिक जेनरेशन वाई तेजी से अपनी इनकम बढ़ा रही है। और अपनी पिछली पीढ़ियों के मुकाबले अधिक काम कर रही है। मौजूदा कामकाजी लोगों में उनकी आबादी 47 फीसदी है। इस पीढ़ी को डिजिटल मीडिया और टेक्नोलॉजी में महारत हासिल है।


रोजगार की तलाश में दिल्ली एनसीआर, मुंबई और बेंगलुरु जैसे शहरों में दूसरे प्रदेशों के लोग हर साल आते हैं। इसकी संख्या दिनों दिन बढ़ रही है। ऐसे इसलिए हो रहा है क्योंकि इन जगहों पर शिक्षा, आईटी और अन्य रोजगार मिलने का केंद्र है। लिहाजा यहां हाउसिंग सेक्टर की बड़ी डिमांड है। लोग यहां किराए से घर की तलाश में रहते हैं। जिनको बेहतर रोजगार मिल गया। वो अपना घहर बनाने की तालश में रहते हैं। कुल मिलाकर इन बड़े शहरों में घरों की हमेशा जरूरत बनी रहती है।


मिलेनियल्स अगर किसी तरह की प्रॉपर्टी अगर देख रहे हैं तो उन्हें कुछ चीजों को ध्यान में रखना होगा।


1 – मॉडर्न लिविंग आधुनिक जीवन


आज की युवा पीढ़ी अपने पैसों के निवेश के बारे में भली भांति जानती है।उनकी वयस्त जीवन शैली में 24 घंटे में से एक तिहाई समय ही खुद के लिए मिलता है। ऐसे में वो जहां भी रहना चाहते हैं। आरामदायक जगह की तलाश में रहते हैं। लिहाजा वो मॉर्डन जीवन शैली को पसंद करते हैं। जिसमें बेहतर वस्तु कला और मनोरंजन का स्थान हो।


2 तकनीकी सुविधा


आज की युवा पीढ़ी टेक्नोलॉजी से चारो ओर घिरी रहती है। उन्हें टेक्नोलॉजी के साथ रहना पसंद आता है। लिहाजा किसी चीज का मालिक बनना उनके लिए गर्व की बात होती है। उन्हें पता होता है कि वो अपने कौशल के दम पर यहां तक पहुंचे हैं। हालांकि इस आबाद की खर्च करने पर भी निर्भर करता है। वो कितना खर्च करते हैं और किस तरह के घरों को खरीदने की तरजीह देते हैं।


3 उनका घर बिजेस और कमर्शियल हब के नजदीक हो 


मिलेनियल्स अपनी छुट्टियों और एंटरटेनमेंट पर अधिक खर्च करते हैं। लिहाजा कोई भी हाउसिंग सोसायटी को उनके अनुसार बनाती है। इसलिए मिलेनियर्स के लिए किसी डेवलपर्स को उनके अनुसार अपने प्रोजेक्ट बनाना चाहिए। मिलेनियर्स चाहते हैं कि उनका घर उस जगह हो जहां ऑफिस नजदीक हो। सारी सुविधाएं आसपास हो। दूर तक नहीं जाना पड़े। 


4- साउंड सिक्योरिटी सिस्टम


मिलेनियल्स अपने वीक डेज में यानी कार्य दिवस के दौरान अपने घरों में बहुत कम समय बिताते हैं। इसलिए उन्हें एक बेहतर सिक्योरिट सिस्टम की जरूरत होती है। कोई घर जो आधुनिक सिक्योरिटी से लैस हो निश्चित तौर पर स्मार्ट होम मिलेनियल्स की पहली पसंद होगी।


5 – सामाजिक मेलजोल अच्छा हो  रूप से अच्छी जगह हो 


को-लिविंग स्पेस आधुनिक लिविंग स्पेस के तौर पर सामने आ रहे हैं। मिलेनियल्स उन घरों को ज्यादा पसंद करते हैं जहां उनकी रहने की योजनाएं और मकान मालिक की दखलंदाजी बिल्कुल भी न हो। जहां सामाजिक मेलजोल हो। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।