Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

इंडिया रियल एस्टेटः बंगलुरू में तेजी से बढ़ता प्रॉपर्टी मार्केट

प्रकाशित Mon, 02, 2018 पर 09:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दक्षिण भारत की सिलिकॉन सिटी बंगलुरू। मेट्रोपॉलिटन सिटी बंगलुरू भारत के उन चुनिंदा शहरों में एक है जो कई मामलों में भारत का प्रतिनिधित्व करता है। बंगलुरू एचएएल, एनएएल और बीएचईएल समेत कई पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग यानि पीएसयू के मुख्यालय हैं। तो वहीं इंफोसिस, विप्रो जैसी बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनियों के साथ ही 6 अलग अलग कॉरीडोर में यहां ढेरों आईटी कंपनियां के भी मुख्यालय भी काबिज हैं। बंगलुरू सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में भारत के अन्य शहरों से काफी आगे है। साउथ वेस्टर्न रेलवे का डिवीजनल हेडक्वॉटर होने के चलते ये शहर रेलवे के जरिए भारत के तकरीबन सभी मुख्य शहरों से जुड़ा है तो वहीं बंगलुरू का इंटरनेशनल एयरपोर्ट भारत ही नहीं दुनिया के कई शहरों को जोड़ता है, बंगलुरू में पूरे शहर का रोड नेटवर्क भी काफी उम्दा है।


कई फेज में बन रहा इस शहर का रैपिड ट्रांजिट सिस्टम यानि नम्मा मेट्रो का पहला फेज इस्तेमाल में है, तो वहीं बाकी कई फेजेज में काम जारी है। यानि कनेक्टिविटी और सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में बंगलुरू अभी देश के कई शहरों के लिए मिसाल है। इन्हीं सब वजहों के चलते बंगलुरू में रोजगार के ढेरों अवसर हमेशा बने रहते हैं खासकर आईटी इंडस्ट्री के लोगों के लिए। लोगों की बढ़ती आबादी से इस शहर में घरों की मांग लगातार बढ़ती रही है जिसके चलते बंगलुरू का रियल एस्टेट मार्केट काफी फलता फूलता रहा है। यहां सोभा, एंबेसी, ब्रिगेड, प्रेस्टीज जैसे बड़े डेवलपर्स के अलावा कई मीडियम साइज और छोटे डेवलपर्स भी हैं जो दिन ब दिन इस शहर की स्काई लाईन को बदलने का काम कर रहे हैं।      


बंगलुरू के नामचीन डेवलपर प्रेस्टीज ग्रुप की। (मोंटाज) प्रेस्टीज ग्रुप की शुरुआत 1986 में हुई। कंपनी के सीएमडी इरफान रजाक की लीडरशिप में प्रेस्टीज ग्रुप ने बंगलुरू की स्काई लाइन को काफी तेजी से बदला। बीते 3 दशक में कंपनी ने 8 करोड़ स्क्वॉयर फीट से भी ज्यादा एरिया में 210 प्रोजेक्ट तैयार किए। आज प्रेस्टीज ग्रुप के 53 प्रोजेक्ट अंडरकंस्ट्रक्शन हैं और करीब 5 करोड़ वर्गफीट में 35 अपकमिंग प्रोजेक्ट्स हैं। अक्टूबर 2010 में प्रेस्टीज ग्रुप ने कैपिटल मार्केट में एंट्री ली और 1200 करोड़ रुपये आईपीओ लेकर आई जिसे निवेशकों ने हाथों हाथ लिया। कंपनी रेजीडेंशियल ही नहीं कमर्शियल और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में उतरी और कई लैंड मार्क प्रोजेक्ट बनाए मसलन, द फोरम मॉल, लार्ज टाउनशिप, टेक पार्क्स, होटल्स, लग्जरी विला और स्पेशल इकोनॉमी जोन्स।


प्रेस्टीज ग्रुप ने बंगलुरू समेत दक्षिण भारत के कई बड़े शहरों में मसलन चेन्नई, हैदराबाद, कोच्ची, मैसूर, मंगलोर समेत गोवा में भी अपना दायरा कायम किया है। बिजनेस से हटकर प्रेस्टीज ग्रुप सोशल जिम्मेदारी भी बखूबी निभा रहा है। बंगलुरू शहर के बीचों बींच मौजूद उल्सूर लेक के रखरखाव का जिम्मा भी कंपनी ने उठा रखा है। आज प्रेस्टीज ग्रुप ने दक्षिण भारत के एक बड़े रियल एस्टेट प्लेयर के तौर पर अपनी पहचान कायम की है।


प्रेस्टीज ग्रुप का प्रोजेक्ट जेड पवेलियन बंगलुरू की बेहद खास लोकेशन में से एक मारथाहल्ली-सरजापुर आउटर रिंग रोड के नजदीक जहां मौजूद हैं वर्ल्ड क्लास हॉस्पिटल्स, स्कूल्स, मॉल्स और उम्दा सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर। प्रेस्टीज ग्रुप के प्रोजेक्ट जेड पवेलियन को बनाया गया है 4.60 एकड़ के लैंड एरिया पर इस प्रोजेक्ट में कुल चार टॉवर्स हैं जिन्हें इस तरह से प्लान किया गया है कि हर घर तक फ्रेश एयर और सनलाइट की कोई ना हो जेड पवेलियन आईटी सेक्टर में काम करने वाले अपर मिडिल क्लास के लोगों को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है इस लिहाज से यहां सिर्फ 2, 3 और 4 बेडरूम की कॉन्फिग्रेशन रखी गई है। यहां 2 बेडरूम का एरिया 1360 वर्गफूट है तो 3 बेडरूम का एरिया 1921 से लेकर 2375 वर्गफूट में है। जेड पवेलियन में सबसे बड़े घर हैं 4 बेडरूम और इनका एरिया है 2513 वर्गफूट से लेकर 2524 वर्गफूट तक चारों ही टॉवर में यहां सभी तरह के 266 घर बनाए गए हैं।


जेड पवेलियन एमिनिटीज और फैसिलिटीज दोनों ही मामलों में काफी शानदार है। पूरे प्रोजेक्ट में चारों ओर ढेर सारा लैंड स्केप प्लान किया है जो इस प्रोजेक्ट को किसी गार्डन सा लुक देता है। टॉवर्स के बीच हर संभव जगह पर प्लांटेशन कर ग्रीन एरिया बढ़ाने की कोशिश की गई है। बच्चों के खेलने के लिए जगह लोकेट की गई है। साथ ही चारों टॉवर्स के बीच काफी बड़ा क्लब प्लान किया गया है ताकि ज्यादा से ज्यादा घरों को क्लब साइड का नज़ारा मिल सके। सेंट्रल एरिया में क्लब के सामने स्टैंडर्ड साइज स्वीमिंग पूल बनाया गया है। इस पूल की सबसे खास बात है इसके स्टेप्स जो पानी के बहाव की प्राकृतिक आवाज़ से यहां के माहौल को अलग ही सुकून देते हैं। लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए क्लब में ढेर सारी एमिनिटीज दी गई हैं। मसलन छोटे बच्चों के लिए क्रश,बड़ों के लिए पूल टेबल, बिलियर्ड्स् और कैरम इसके अलावा यहां फुल साइज बैटमिंटन हॉल, स्क्वॉश कोर्ट, योगा रूम, और टेबल टेनिस जैसे फीचर्स दिए गए हैं।


जेड पवेलियन में ग्राउंड फ्लोर को पूरी तरह से व्हीकल फ्री जोन रखा गया है, यहां दो फ्लोर में पूरी तरह से अंडरग्राउंड पार्किंग दी गई है। इसके अलावा सुरक्षा की नजर से भी जेड पवेलियन काफी बेहतर है। पूरे ही कैंपस को सीसीटीवीकी निगरानी में रखा गया है। मेन गेट समेत हर टॉवर में सिक्योरिटी गार्ड्स की मौजूदगी 24 घंटे रहती है।  ऐसी ही कई वजहें जेड पवेलियन को एक बेहतरीन रिहायशी प्रोजेक्ट बनाती हैं।