Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

रियल एस्टेट गाइड: कैसा है ठाणे का लोढ़ा स्टर्लिंग प्रोजेक्ट

प्रकाशित Tue, 25, 2018 पर 11:14  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ठाणे पश्चिम महाराष्ट्र का तेजी से उभरता शहर है। मुंबई से लगे होने की वजह से इस शहर का डेवलपमेंट काफी तेज रफ्तार से हुआ है। ठाणे में सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर यानि रोड, हॉपिटल्स, स्कूल्स और मॉल्स की कोई कमी नहीं है। कनेक्टिविटी के लिहाज से भी ठाणे काफी शानदार है। ठाणे ईस्टर्न एक्सप्रेस वे के जरिेए मुलुंड, दादर और वर्ली जैसे इलाकों से कनेक्ट है तो वहीं कल्याण और नवी मुंबई के लिए भी काफी अच्छा रोड नेटवर्क है। इन्हीं सब इलाकों तक जाने के लिए यहां मुंबई लोकल ट्रेन की सेंट्रल और हर्बर लाइन भी है जो रोजाना लाखों लोगों के सफर का जरिया है। मुंबई का इंटरनेशनल एयरपोर्ट यहां से करीब 28 किलोमीटर पर है तो वहीं नवी मुंबई में प्रपोस्ड एयरपोर्ट की दूरी भी तकरीबन इतनी ही है। ये वजहें काफी हैं यहां छोटे से बड़े रियल एस्टेट सेक्टर के कारोबारियों का ध्यान खीचने के लिए।


भारत के रियल एस्टेट सेक्टर के सबसे बड़े डेवलपर के रुप में अगर किसी कंपनी का नाम आता है तो वो है लोढ़ा ग्रुप। मुंबई, पुणे और हैदराबाद में कंपनी के प्रोजेक्ट हैं। लोढ़ा ग्रुप की स्थापना 1980 में हुई। कंपनी ने रियल एस्टेट सेक्टर में अपनी खास पहचान बनाई है। देश-विदेश में लोढ़ा ग्रुप के कई प्रोजेक्ट हैं। कंपनी का जोर क्वालिटी और सभी आय वर्ग के लोगों को आवास उपलब्ध करवाने पर है।


11 एकड़ में बन रहा लोढ़ा ग्रुप का लोढ़ा स्टर्लिंग प्रोजेक्ट लंदन बेस्ड प्रोजेक्ट है। लोढ़ा स्टर्लिंग में 7 मंजिल के 6 टॉवर हैं। इसमें 2 बीएचके से 4 बीएचके तक के 1000 घर हैं। घरों का एरिया 820 से 2040 वर्गफिट है। हर टॉवर में सभी मॉर्डन एमिनिटीज हैं। लोढ़ा स्टर्लिंग में बड़ा क्लब हाउस है। लोढ़ा स्टर्लिंग में थिएटर और पार्टी हाउस है।