Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

इंडिया रियल एस्टेटः 2018 से बाजार को क्या हैं उम्मीदें

प्रकाशित Mon, 18, 2017 पर 12:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

साल 2017 में रियल एस्टेट सेक्टर के लिए काफी खास रहा है। साल 2017 में प्रॉपर्टी बाजार में परिवर्तन हुआ है जिसके बाद आनेवाले नए साल में प्रॉपर्टी बाजार की चाल कैसी होगी और बिल्डरों को 2018 से क्या उम्मीदें? इन सब पर बात करने के लिए हमारे साथ मौजूद है जेएलएल नेशनल फर्म डायरेक्टर मोहम्मद असलम, लाइसिस फोरास के एमडी पंकज कपूर, कॉलियर्स इंटरनेशनल के डायरेक्टर-साउथ एशिया अरविंद नंदन।


जानकारों का कहना है कि साल 2017 भारती अर्थव्यवस्था और प्रॉपर्टी बाजार के लिए बदलाव भरा रहा है और इस तरह के बदलाव का असर बाजार में कुछ समय तक दिखाई देता है। रियल एस्टेट का ये साल 1992 जैसा ही रहा है। रेरा, जीएसटी, अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम को देखा जाएं तो यह कहना गलत नहीं होगा कि सरकार भी रियल एस्टेट मार्केट को लेकर गंभीर रही है।


रेरा, रियल एस्टेट मार्केट के लिए बड़ा गेम चेंजर रहा है और इसकी काफी जरुरत भी थी। इससे बिल्डरों में काफी बदलाव आया है। इतना ही रेरा के लागू होने के बाद ग्राहको का विश्वास रियल एस्टेट मार्केट की और काफी बड़ी मात्रा में बढ़ा है।