कॉरपोरेट इंडिया की रियल पिक्चर, नतीजों का विश्लेषण -

कॉरपोरेट इंडिया की रियल पिक्चर, नतीजों का विश्लेषण

प्रकाशित Fri, 10, 2017 पर 13:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कंपनियों के तिमाही नतीजों पर नोटबंदी के असर का डर तो बाजार को था, लेकिन अब तक आए तिमाही नतीजों में बाजार की आशंकाएं गलत साबित हुई हैं। लिहाजा कॉरपोरेट इंडिया की सेहत कितनी सुधरी और अब नतीजों के बाद कौनसे शेयर हैं निवेश के काबिल, इस पर हम चर्चा कर रहे हैं हमारे खास शो कॉरपोरेट इंडिया... कैसे रहे नतीजे में। हमारी मदद कर रहे हैं रेलिगेयर सिक्योरिटीज के हितेश अग्रवाल और सेंट्रम वेल्थ मैनेजमेंट के सिद्धार्थ खेमका


शुरुआत करते हैं एफएमसीजी सेक्टर से, इस सेक्टर में एशियन पेंट्स के नतीजे अच्छे रहे हैं और कंपनी का मार्जिन 17.8 फीसदी रहा है। इसके अलावा आईटीसी ने भी अच्छे नतीजे पेश किए हैं और कंपनी का मार्जिन 26.1 फीसदी रहा है। हालांकि एचयूएल के नतीजों ने निराश किया और कंपनी का मार्जिन 16.3 फीसदी रहा है।


वहीं ऑटो सेक्टर में बजाज ऑटो ने अच्छे नतीजे पेश किए हैं और कंपनी का मार्जिन 20.6 फीसदी रहा है। आयशर मोटर्स ने भी अच्छे नतीजे पेश किए हैं और कंपनी का मार्जिन 31.4 फीसदी रहा है। हीरो मोटोकॉर्प ने भी उम्मीद के मुताबिक ही नतीजे पेश किए हैं और कंपनी का मार्जिन 17 फीसदी रहा है। हालांकि मारुति सुजुकी के नतीजे मिलेजुले रहे हैं और कंपनी का मार्जिन 14.8 फीसदी रहा है।


सीमेंट सेक्टर में एसीसी ने निराश किया और कंपनी का मार्जिन 7.2 फीसदी रहा है। ग्रासिम के नतीजे मिलेजुले रहे हैं और कंपनी का मार्जिन 19.8 फीसदी रहा है। अल्ट्राटेक सीमेंट ने बेहतर नतीजे पेश किए हैं और कंपनी का मार्जिन 17.5 फीसदी रहा है। बैंकिंग सेक्टर में एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक ने काफी निराश किया है। एक्सिस बैंक का ग्रॉस एनपीए 5.22 फीसदी और आईसीआईसीआई बैंक का ग्रॉस एनपीए 7.91 फीसदी पर पहुंच गया है।


हालांकि एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, इंडसइंड बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक और यस बैंक के नतीजे अच्छे रहे हैं। एचडीएफसी का ग्रॉस एनपीए 0.81 फीसदी, एचडीएफसी बैंक का ग्रॉस एनपीए 1.05 फीसदी, इंडसइंड बैंक का ग्रॉस एनपीए 0.94 फीसदी, कोटक महिंद्रा बैंक का ग्रॉस एनपीए 2.42 फीसदी और यस बैंक का ग्रॉस एनपीए 0.85 फीसदी रहा है।


आईटी सेक्टर में टीसीएस के नतीजे अच्छे रहे हैं और कंपनी की डॉलर आय में 2 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है। इंफोसिस और विप्रो ने निराश किया है। इंफोसिस की डॉलर आय में 0.3 फीसदी की गिरावट आई है, जबकि विप्रो की डॉलर आय में 0.6 फीसदी की ग्रोथ रही है। एचसीएल टेक और टेक महिंद्रा ने अच्छे नतीजे पेश किए हैं। एचसीएल टेक की डॉलर आय में 3 फीसदी और टेक महिंद्रा की डॉलर आय में 5.4 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है।


ऑयल एंड गैस सेक्टर में बीपीसीएल और ओएनजीसी के नतीजे उम्मीद के मुताबिक नहीं रहे हैं। बीपीसीएल का मार्जिन 5.2 फीसदी और ओएनजीसी का मार्जिन 45 फीसदी रहा है। हालांकि रिलायंस इंडस्ट्रीज के नतीजे अच्छे रहे हैं और कंपनी का मार्जिन 13.7 फीसदी रहा है। वहीं बीपीसीएल का जीआरएम बेहतर रहा है, जो 5.9 डॉलर प्रति बैरल रहा है। साथ ही रिलायंस इंडस्ट्रीज का जीआरएम भी बेहतर हुआ है और ये 10.8 डॉलर प्रति बैरल रहा है।


पावर सेक्टर में एनटीपीसी के नतीजे मिलेजुले रहे हैं, जबकि पावर ग्रिड ने बेहतर नतीजे पेश किए हैं। एनटीपीसी का मार्जिन 27 फीसदी रहा, तो पावर ग्रिड का मार्जिन 89.9 फीसदी रहा है। मेटल सेक्टर में टाटा स्टील के नतीजे अच्छे रहे हैं और कंपनी का मार्जिन 12 फीसदी रहा है। कैपिटल गुड्स सेक्टर में एलएंडटी और बीएचईएल दोनों के नतीजे अच्छे रहे हैं। एलएंडटी का मार्जिन 9.6 फीसदी और बीएचईएल का मार्जिन 3.5 फीसदी रहा है।


टेलीकॉम सेक्टर में भारती एयरटेल ने निराश किया, लेकिन भारती इंफ्राटेल के नतीजे बेहतर रहे हैं। भारती एयरटेल का मार्जिन 36.7 फीसदी रहा और भारती इंफ्राटेल का मार्जिन 44 फीसदी रहा है। फार्मा सेक्टर में अरविंदो फार्मा, ल्यूपिन, सिप्ला और डॉ रेड्डीज ने अच्छे नतीजे पेश किए हैं। अरविंदो फार्मा का मार्जिन 23 फीसदी, ल्यूपिन का मार्जिन 27.1 फीसदी, सिप्ला का मार्जिन 18.6 फीसदी और डॉ रेड्डीज का मार्जिन 23.2 फीसदी रहा है।


मीडिया सेक्टर में जी एंटरटेनमेंट ने अच्छे नतीजे पेश किए हैं। जी एंटरटेनमेंट का मार्जिन 31.5 फीसदी रहा है। वहीं पीएसयू कंपनियों ने बेहतर डिविडेंड भी दिया है। एनएचपीसी ने 1.7 रुपये प्रति शेयर और बीपीसीएल ने 19.5 रुपये प्रति शेयर के डिविडेंड का एलान किया है।


अब नतीजों के बाद आपको किन शेयरों में पैसे लगाने चाहिए, इस पर रेलिगेयर सिक्योरिटीज के हितेश अग्रवाल का कहना है कि केयर रेटिंग्स में निवेश से अच्छे पैसे बनाए जा सकते हैं। 1 साल की अवधि में केयर रेटिंग्स का शेयर 1694 रुपये तक जा सकता है। वहीं हितेश अग्रवाल ने स्वराज इंजंस पर भी दांव लगाने की सलाह दी है। हितेश अग्रवाल का मानना है कि 1 साल की अवधि में स्वराज इंजंस में 1736 रुपये का स्तर मुमकिन है।


सेंट्रम वेल्थ मैनेजमेंट के सिद्धार्थ खेमका ने स्ट्राइड्स शासुन में निवेश करने की सलाह दी है। सिद्धार्थ खेमका के मुताबिक 1 साल की अवधि में स्ट्राइड्स शासुन के 1317 रुपये तक जाने की उम्मीद है। साथ ही सिद्धार्थ खेमका को लगता है कि भारत फाइनेंशियल भी अच्छा फायदा दे सकता है। सिद्धार्थ खेमका का कहना है कि 1 साल की अवधि में भारत फाइनेंशियल 1053 रुपये तक जा सकता है।