HDFC का नेट प्रॉफिट मार्च तिमाही में 22% घटकर 2,233 करोड़ रुपए, 21 रुपए/शेयर डिविडेंड देने का ऐलान

मार्च 2020 तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट 2233 करोड़ रुपए रहा जो पिछले साल की इसी तिमाही में 2862 करोड़ रुपए था
अपडेटेड May 26, 2020 पर 10:15  |  स्रोत : Moneycontrol.com

HDFC ने 31 मार्च को खत्म तिमाही के नतीजे सोमवार को जारी किए। मार्च 2020 तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट 22 फीसदी घटकर 2233 करोड़ रुपए रहा है। यह पिछले साल की इसी तिमाही के 2862 करोड़ रुपए के मुकाबले कम रहा है। HDFC के बोर्ड ने डिविडेंड देने का फैसला किया है। कंपनी ने 21 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से डिविडेंड देने का फैसला किया है।


कंपनी ने बताया कि पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी का डिविडेंड इनकम 537 करोड़ रुपए थी जो इस बार 2 करोड़ रुपए रही। इस दौरान निवेश बेचने से कंपनी को 2 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ है जो पिछले साल की इसी तिमाही में 321 करोड़ रुपए थी।


होम लोन देने वाली इस कंपनी ने अपने नतीजों में बताया है कि कोरोनावायरस महामारी की वजह से उसे 1274 करोड़ रुपए की प्रोविजनिंग करनी पड़ी है। एक साल पहले इसी तिमाही में कंपनी ने 398 करोड़ रुपए की प्रोविजनिंग की थी।


31 मार्च 2020 तक HDFC का ग्रॉस नॉन परफॉर्मिंग लोन 8908 करोड़ रुपए था। यह कंपनी के लोन पोर्टफोलियो का 1.99 फीसदी है।


HDFC का कैपिटल एडेक्वसी रेशियो 17.7 फीसदी है। इसमें टीयर 1 कैपिटल का हिस्सा 16.6 फीसदी और टीयर 2 का हिस्सा 1.1 फीसदी था। रेगुलेटरी के नियमों के मुताबिक, किसी भी फाइनेंशियल संस्थान के लिए कैपिटल एडेक्वसी रेशियो 13 फीसदी और टीयर 1 कैपिटल 10 फीसदी रहना जरूरी है।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।