रिलायंस ने पेश किये शानदार नतीजे, ₹10104 करोड़ का मुनाफा

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही के नतीजे घोषित कर दिये हैं।
अपडेटेड Jul 19, 2019 पर 18:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही के नतीजे घोषित कर दिये हैं। पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का कंसोलीडेटेड मुनाफा 2.5 फीसदी घटकर 10,104 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का कंसोलीडेटेड मुनाफा 10,362 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंसोलीडेटेड आय 13.2 फीसदी बढ़कर 1.57 लाख करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंसोलीडेटेड आय 1.38 लाख करोड़ रुपये रही थी।


पहली तिमाही में कंपनी का जीआरएम (ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन) पिछली तिमाही के 8.20 डॉलर प्रति बैरल से घटकर 8.10 डॉलर प्रति बैरल पर रही है। रिलायंस इंडस्ट्रीज का पहली तिमाही का जीआरएम वित्त वर्ष 2015 की तीसरी तिमाही के बाद अपने निम्नतम स्तर पर रहा है।


तिमाही दर तिमाही आधार पर पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का कंसोलिडेटेड एबिटडा मार्जिन 15 फीसदी से घटकर 13.6 फीसदी और कंसोलिडेटेड एबिटडा 20832 करोड़ रुपये से बढ़कर 21315 करोड़ रुपये रहा है।


पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज की पेट्रोकेमिकल कारोबार से होनेवाली आय 11.3 फीसदी घटकर 37611 करोड़ रुपये पर आ गई है जो कि वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में 42414 करोड़ रुपये रही थी। पहली तिमाही में कंपनी के पेट्रोकेमिकल कारोबार का एबिटडा 9361 करोड़ रुपये से घटकर 8810 करोड़ रुपये पर आ गया है। इस अवधि में कंपनी के पेट्रो केमिकल कारोबार का एबिटडा मार्जिन पिछली तिमाही के 22.1 फीसदी से बढ़कर 23.4 फीसदी रहा है।


पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज की रिटेल कारोबार से होनेवाली आय 47.5 फीसदी बढ़कर 38196 करोड़ रुपये पर आ गई है जो कि वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में 25890 करोड़ रुपये रही थी। पहली तिमाही में कंपनी के रिटेल कारोबार का एबिटडा 1206 करोड़ रुपये से बढ़कर 2049 करोड़ रुपये पर आ गया है। इस अवधि में कंपनी के रिटेल कारोबार का एबिटडा मार्जिन पिछली तिमाही के 4.66 फीसदी से बढ़कर 5.36 फीसदी रहा है।


पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज की रिफाइनिंग कारोबार से होनेवाली आय 15.8 फीसदी बढ़कर 1.01 लाख करोड़ रुपये पर आ गई है जो कि वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में 87804 करोड़ रुपये रही थी। पहली तिमाही में कंपनी के रिफाइनिंग कारोबार का एबिटडा 4964 करोड़ रुपये से बढ़कर 5152 करोड़ रुपये पर आ गया है। इस अवधि में कंपनी के रिफाइनिंग कारोबार का एबिटडा मार्जिन पिछली तिमाही के 5.65 फीसदी से घटकर 5.06 फीसदी रहा है।


रिलायंस जियो


वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में रिलायंस जियो का मुनाफा 6.1 फीसदी बढ़कर 891 करोड़ रुपये रहा है जो पिछली तिमाही 840 करोड़ रुपये रहा था। पहली तिमाही में रिलायंस जियो की आय 5.2 फीसदी बढ़कर 11679 करोड़ रुपये रही है जो पिछली तिमाही में 11106 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर पहली तिमाही में रिलायंस जियो का एबिटडा 4329 करोड़ रुपये से बढ़कर 4686 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही दर तिमाही आधार पर पहली तिमाही में रिलायंस जियो का एबिटडा मार्जिन 39 फीसदी से बढ़कर 40.1 फीसदी रहा है। इस अवधि में कंपनी के उपभोक्ताओं की संख्या पिछली तिमाही के 30.67 करोड़ से बढ़कर 33.13 करोड़ पर पहुंच गई है। पहली तिमाही में रिलायंस जियो की प्रति उपभोक्ता आय (ARPU) 122 रुपये रही है।


डिस्क्लोजरः मनीकंट्रोल डॉट कॉम रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है। नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है।