RIL Q3: मुनाफे में 3.4% की बढ़ोत्तरी, आय बढ़कर 1.53 लाख करोड़

RIL ने वित्त वर्ष 2020 के तीसरी तिमाही के नतीजे घोषित कर दिये हैं।
अपडेटेड Jan 19, 2020 पर 08:36  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में RIL का मुनाफा 3.4 फीसदी बढ़कर 11640 करोड़ रुपये रहा है जो इसी वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 11262 करोड़ रुपये रहा था। तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 2.4 फीसदी बढ़कर 1.53 लाख करोड़ रुपये रही है जबकि इसी वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी की आय 1.49 लाख करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर कंपनी का एबिटडा 22152 करोड़ रुपये से बढ़कर 22386 करोड़ रुपये रहा है वहीं एबिटडा मार्जिन 4.8 फीसदी से घटकर 4.6 फीसदी रहा है।


तीसरी तिमाही में RIL की ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन 9.2 डॉलर प्रति बैरल रही है।


तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में RIL की पेट्रो केमिकल्स कारोबार से होने वाली आय 4.2 फीसदी बढ़कर 36909 करोड़ रुपये रही है जो इसी साल की पिछली तिमाही में 38538 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में कंपनी की पेटकेम एबिट 7602 करोड़ रुपये से घटकर 5880 करोड़ रुपये रही है जबकि पेटकेम एबिट मार्जिन 19.7 फीसदी से घटकर 15.9 फीसदी रही है।


कंपनी के रिफाइनिंग कारोबार की आय 6.7 फीसदी बढ़कर 1.03 लाख करोड़ रुपये रही है जो कि पिछली तिमाही में 97229 करोड़ रुपये रही थी। तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में RIL का रिफाइनिंग एबिट 4957 करोड़ रुपये से बढ़कर 5657 करोड़ रुपये रहा है जबकि रिफाइनिंग एबिट 5.1 फीसदी से बढ़कर 5.4 फीसदी रहा है।


तीसरी तिमाही में कंपनी की रिटेल कारोबार से होनेवाली आय 27.4 फीसदी बढ़कर 45327 करोड़ रुपये रही है जो कि पिछली तिमाही में 35777 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में कंपनी का रिटेल एबिट 1512 करोड़ रुपये से बढ़कर 2389 करोड़ रुपये रहा है जबकि एबिट मार्जिन 4.2 फीसदी से बढ़कर 5.3 फीसदी रहा है।


रिलायंस JIO


तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में रिलायंस JIO का मुनाफा 36.4 फीसदी बढ़कर 1350 करोड़ रुपये रहा है जबकि पिछली तिमाही में ये 990 करोड़ रुपये रहा था। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 6.4 फीसदी बढ़कर 13968 करोड़ रुपये रही है जबकि पिछली तिमाही में कंपनी की आय 13130 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में रिलायंस JIO का एबिट 5166 करोड़ रुपये से बढ़कर 5601 करोड़ रुपये रहा है जबकि तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में रिलायंस JIO का एबिट मार्जिन 39.3 फीसदी से बढ़कर 40.1 फीसदी रहा है।


तीसरी तिमाही में कंपनी के सब्सक्राइबरों की संख्या बढ़कर 37 करोड़ हो गई है जो कि दूसरी तिमाही में 35.52 करोड़ रही थी। तीसरी तिमाही में रिलायंस JIO की प्रति उपभोक्ता औसत आय (यानी ARPU) 128.4 रुपये रही है।


रिलायंस इडस्ट्रीज के सीएफओ आलोक अग्रवाल ने तीसरी तिमाही के नतीजों पर कहा कि कंपनी के रिटेल कारोबार का प्रदर्शन बेहतर रहा है। इस तिमाही में कंपनी के स्टोर में 17.6 करोड़ ग्राहक आये। उन्होंने आगे कहा कि जून 2020 तक R Cluster से गैस प्रोडक्शन संभव है। उन्होंने ये भी कहा कि saudi aramco डील पर चर्चा सही दिशा में चल रही है।


रिलायंस इडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कंपनी के तीसरी तिमाही के नतीजों पर बात करते हुए कहा कि रिलायंस जियो का शानदार प्रदर्शन जारी है। ग्लोबल अस्थिरता का कंपनी के एनर्जी कारोबार पर असर पड़ा है। इसके बावजूद कंपनी के रिफाइनिंग कारोबार में सुधार आया है। उन्होंने आगे कहा कि कंपनी के रिटेल कारोबार का प्रदर्शन भी बेहतर रहा है। same-store-sells में स्थिरता रही है।  




डिस्क्लोजरः मनीकंट्रोल डॉट कॉम रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है। नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।