घाटे से मुनाफे में आया एसबीआई, एनपीए भी घटा

प्रकाशित Fri, 10, 2019 पर 14:10  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में एसबीआई को 838.4 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है जबकि पिछले साल की इसी अवधि में एसबीआई को 7,718 करोड़ का घाटा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 14.9 फीसदी बढ़कर 22,954 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में  एसबीआई की ब्याज आय 19,974 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में एसबीआई का ग्रॉस एनपीए 8.71 फीसदी से घटकर 7.53 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में एसबीआई का नेट एनपीए 3.95 फीसदी से घटकर 3.01 फीसदी रहा है।


रुपये में देखें तो तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए 1.88 लाख करोड़ रुपये से घटकर 1.72 लाख करोड़ रुपये रहा है जबकि नेट एनपीए 80,944 करोड़ रुपये से घटकर 65,895 करोड़ रुपये रहा है।


तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में एसबीआई का प्रोविजन कवरेज रेश्यो 74.6 फीसदी से बढ़कर 78.73 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर बैंक की लोन ग्रोथ 6.7 फीसदी रहा है जबकि सालाना आधार पर चौथी तिमाही में एसबीआई का लोन ग्रोथ 13 फीसदी रहा था।


सालाना आधार पर बैंक का ओपरेटिंग मुनाफा 15883 करोड़ रुपये से बढ़कर 16933 करोड़ रुपये रहा है।


तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में एसबीआई की प्रोविजनिंग 13,971 करोड़ रुपये से बढ़कर 17,336 करोड़ रुपये रही है जबकि पिछले साल की चौथी तिमाही में एसबीआई की प्रोविजनिंग 24,080 करोड़ रुपये रही थी।