एसबीआई को ₹4876 करोड़ का घाटा -

एसबीआई को ₹4876 करोड़ का घाटा

प्रकाशित Fri, 10, 2018 पर 14:23  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में एसबीआई को 4,876 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में एसबीआई को 2,005.5 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 23.8 फीसदी बढ़कर 21,798 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 17,606 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में एसबीआई का ग्रॉस एनपीए 10.91 फीसदी से घटकर 10.69 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में एसबीआई का नेट एनपीए 5.73 फीसदी घटकर 5.29 फीसदी रहा है।


रुपये के आधार पर देखें तो तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में एसबीआई का ग्रॉस एनपीए 2.23 लाख करोड़ रुपये से घटकर 2.12 लाख करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में एसबीआई का नेट एनपीए 1.10 लाख करोड़ रुपये से घटकर 99,236 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में एसबीआई के नए एनपीए 32,821 करोड़ रुपये से घटकर 14,349 करोड़ रुपये के रहे हैं।


तिमाही आधार पर पहली तिमाही में एसबीआई की प्रोविजनिंग 28,096 करोड़ रुपये से घटकर 19,228 करोड़ रुपये रही है, जबकि पिछले साल की पहली तिमाही में प्रोविजनिंग 8,929 करोड़ रुपये रही थी। वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में एसबीआई को 2,379 करोड़ रुपये का टैक्स क्रेडिट हासिल हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में एसबीआई को 4,495 करोड़ रुपये का टैक्स क्रेडिट हासिल हुआ था।


तिमाही आधार पर पहली तिमाही में एसबीआई की अन्य आय 12,495 करोड़ रुपये से घटकर 6,679 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में एसबीआई की अन्य आय 8,006 करोड़ रुपये रही थी।


सीएनबीसी-आवाज़ के साथ बातचीत में एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने माना कि अभी निजी निवेश का कोई मेगा प्रोजेक्ट नहीं आ रहा है लेकिन उन्होंने कहा कि बैंक के डूबे कर्ज की रिकवरी अच्छी हो रही है इसलिए आने वाले वक्त में बैंक की सेहत और सुधरेगी।