Shriram Transport Finance Q1- मुनाफा 47 प्रतिशत घटकर हुआ 170 करोड़

श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस का मुनाफा घटा जबकि ब्याज आय में इजाफा हुआ
अपडेटेड Jul 31, 2021 पर 15:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी (NBFC) श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस (Shriram Transport Finance) का मुनाफा में बैड को हायर प्रोविजनिंग के कारण जून में समाप्त तिमाही के लिए 46.90 प्रतिशत की गिरावट के साथ 169.94 करोड़ रुपये दर्ज किया गया।


वहीं पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी को 320.6 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। इसके प्रबंध निदेशक और सीईओ उमेश रेवणकर (Umesh Revankar) ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही (Q1 FY22) के नतीजों की तुलना पिछले वर्ष की समान तिमाही से नहीं की जा सकती क्योंकि उस दौरान मोराटोरियम (moratorium) था।


रेवणकर ने कहा, "कोविड की दूसरी लहर के कारण, ग्रॉस स्टेज 3 एसेट्स (NPAs) में वृद्धि हुई है। इसलिए हमें अतिरिक्त प्रोविजनिंग करने की आवश्यकता महसूस हुई। हमें लगता है कि पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट अभी भी चुनौतियों से गुजर रहा है और इसलिए हमने इसके लिए प्रोविजनिंग की है। इस अवधि के दौरान 261.02 करोड़ रुपये की COVID प्रोविजनिंग की गई।


इस साल की पहली तिमाही शुद्ध ब्याज आय (NII) पिछले वर्ष की समान अवधि में 1,842.54 करोड़ रुपये से 14.38 प्रतिशत बढ़कर 2,107.45 करोड़ रुपये हो गई। ग्रॉस स्टेज 3 एसेट्स  7.98 प्रतिशत से बढ़कर 8.18 प्रतिशत रही। नेट स्टेज 3 एसेट्स 5.06 प्रतिशत रही जो कि पिछले साल 4.74 प्रतिशत थी।


अप्रैल, मई और जून के लिए कलेक्शन क्रमशः 92 प्रतिशत, 87 प्रतिशत और 94 प्रतिशत रहा। रेवणकर ने कहा कि हमें लगता है कि जुलाई अब तक अच्छा रहा है और हमें अगस्त और सितंबर में गति के और बेहतर होने की उम्मीद है। हमें अपने स्टेज और स्टेज 3 लेवल्स के स्तर को घटाने में सक्षम होना चाहिए और आगे चलकर बेहतर रिजल्ट पेश करेंगे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।