विप्रो की आय घटी, मार्जिन पर भी दिखा दबाव

पहली तिमाही में विप्रो की आईटी सर्विसेस से होने वाली आय 1.6 फीसदी घटकर 14,351.4 करोड़ रुपये रही है।
अपडेटेड Jul 17, 2019 पर 15:56  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में विप्रो की आईटी सर्विसेस से होने वाली आय 1.6 फीसदी घटकर 14,351.4 करोड़ रुपये रही है जो वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में 14,586.5 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में विप्रो की आईटी सर्विसेस एबिट 5.5 फीसदी घटकर 2,652 करोड़ रुपये रही है जो वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में 2,808 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर पहली तिमाही में विप्रो की एबिट मार्जिन 19.3 फीसदी से घटकर 18.4 फीसदी पर आ गई है। वहीं कंपनी की BFSI बिजनेस से होने वाली आय पिछली तिमाही के 4,604 करोड़ रुपये से घटकर 4,539.5 करोड़ रुपये रही है।


WIPRO के CFO जतिन दलाल ने सीएनबीसी-आवाज़ के साथ बातचीत करते हुए कहा कि कंपनी ने 41 नये क्लाइंट को शामिल किया है। बायबैक के बारे में नितिन ने कहा कि कंपनी बाय बैक का जो ऑफर लाई है उसे पूरा करेगी हालांकि इस संबंध में रेग्युलेटरी सेबी के निर्देशों का पालन किया जायेगा। इसमें बायबैक टैक्स के चलते इस बायबैक को वापस नहीं लेंगे।