Moneycontrol » समाचार » रिटायरमेंट

रिटायरमेंट प्लान कर रहे हैं तो इन योजनाओं पर करें भरोसा

सरकारी योजनाओं में लॉन्ग टर्म निवेश के लिए बेहतर विकल्प हैं। इसमें शानदार रिटर्न मिलने की पूरी संभावना रहती है
अपडेटेड Dec 24, 2020 पर 17:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस के इस दौर में आर्थिक सुस्ती का माहौल पूरी दुनिया में है। इस बीच कई निवेशक बेहतर निवेश की तलाश में भटक रहे हैं। अगर आप भी बेहतर निवेश की तलाश में तो आपको कुछ सरकारी योजनाओं के बारे में बताएंगे। जहां निवेश करने से आपको बुढ़ापे में भी शानदार आमदनी होती रहेगी।


अटल पेंशन योजना


अटल पेंशन योजना (APY) असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए एक सरकारी पेंशन योजना है। इसमें निवेशकों को रिटायरमेंट के बाद 1,000 रुपये से 5,000 रुपये तक की गारंटीड मंथली पेंशन मिलती है। अटल पेंशन योजना इंडिया पोस्ट की सभी शाखाओं में मौजदू है। कुल बैंक भी इसकी सुविधा देते हैं। इसमें  18 से 40 साल के लोग ही अप्लाई कर सकते हैं।


PM किसान मानधन योजना 


मोदी सरकार ने किसानों को भी पेंशन योजना किसान मानधन योजना शुरू की है। योजना में रजिस्ट्रेशन करवाने वाले किसानों को 60 साल की उम्र के बाद कम से कम 3000 रुपए पेंशन दी जाती है। अगर कोई 18 साल की उम्र में इस योजना से जुड़ते हैं तो हर महीने 55 रुपए उन्हें भरना होगा। 30 साल की उम्र में इस योजना से जुड़ते हैं तो 110 रुपए और 40 की उम्र में जुड़ते हैं तो 200 रुपए महीना भरना होगा। पीएम किसान मानधन में जितना किसान प्रीमियम देंगे उतना सरकार भी किसान के अकाउंट में जमा करती है।


PM श्रम योगी मानधन योजना


मोदी सरकार ने असंगठित क्षेत्र के लिए बुढ़ापे में आर्थिक सुरक्षा के लिए पीएम श्रम योगी मानधन योजना शुरू की है। इस योजना में हर महीने बेहद ही कम पैसे जमा करने पर 60 साल की उम्र के बाद मंथली 3000 रुपये सा 36,000 रुपये सालाना पेंशन मिलती है। इस योजना के तहत ऐसा कोई भी भारतीय नागरिक जुड़ सकता है, जिसकी उम्र 18 साल से 40 साल के बीच हो। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के अनुसार इस योजना के जरिए अबतक करीब 45 लाख लोग जुड़ चुके हैं।


PM लघु व्‍यापारी मानधन योजना


मोदी सरकार ने इस योजना को छोटे कारोबारियों के लिए शुरू की है। इस योजना में 60 साल की उम्र पूरी होने के बाद 3,000 रुपये मासिक पेंशन दी जाती है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।