Moneycontrol » समाचार » रिटायरमेंट

40 की उम्र में होना है फाइनेंशियली रिटायर, एक्सपर्ट से जानिये जल्दी रिटायरमेंट के गुर

40 साल की उम्र जीवन का अहम पड़ाव होता है। इस समय इमरजेंसी फंड बनाना शुरू करें।
अपडेटेड Oct 29, 2019 पर 09:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

उम्र का हर पड़ाव, आपसे एक नई आर्थिक रणनीति डिमांड करता है, ऐसे में आपकी लाइफस्टाइल से लेकर आपकी बचत योजनाओं, आदतों तक में तबदिली लाना बेहद जरूरी हो जाता है और बात हो जब पोर्टफोलियो प्लानिंग की तो 40 के बाद हेल्थ और वेल्थ दोनो पर आपका ध्यान दोगुना हो जाना चाहिए, लेकिन 40 के बाद की जिंदगी अच्छी गुजरे इसलिए जरूरी है के आपके के 40 के पहले की आर्थिक लाइफ प्लान्ड गुजरे। हमारे इस खास शो में आपको सलाह देने के लिए विशफिन के CEO & को-फाउंडर ऋषि मेहरा सीएनबीसी-आवाज़ के साथ जुड़ गये हैं।


40 साल की उम्र से पहले फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए कमर कसिए। होम लोन, बच्चों की पढाई सभी जरूरी और बड़ी जिम्मेदारियों से खुद को होशियार करें। 40 साल की उम्र जीवन का अहम पड़ाव होता है। इस समय इमरजेंसी फंड बनाना शुरू करें। इसके लिए 6 से 12 महीने की सैलरी का इमरजेंसी फंड जरूरी होता है।


इसके साथ ही रिटायरमेंट कॉर्पस का आंकलन करें। 40 की उम्र के पहले जोखिम उठाने की क्षमता बेहतर होती है। इक्विटी जैसे एसेट क्लास में निवेश ज्यादा करें। रिटायरमेंट के लिए MF, शेयर, डेट निवेश का विकल्प चुनें। रिटायरमेंट के कॉर्पस में महंगाई दर को भी गिनना चाहिए। बच्चों की पढाई का लक्ष्य तय करें।


सबसे अहम बात की 40 की उम्र से पहले घर खरीद लें। 40 की उम्र के बाद होम लोन केवल 5 प्रतिशत से 10 प्रतिशत ही रखें। होम लोन के पार्ट पेमेंट के लिए बचत और निवेश करें। हर 5 साल में या बोनस मिलने पर पार्ट पेमेंट करें। होम लोन के पार्ट पेमेंट से प्रिंसिपल अमाउंट कम होगा। इसके साथ ही प्रर्याप्त जीवन बीमा खरीदें। कम उम्र में लाइफ इंश्योरेंस किफायती होता है। अपने साथ पूरे परिवार को हेल्थ इंश्योरेंस से कवर करें। ज्यादा कर्ज या क्रेडिट कार्ड का बकाया ना रखें।


सवाल: मेरी उम्र 39 साल है। मेरा निवेश इस प्रकार है।
ABSL Focused Equity - 2000 प्रति माह
SBI Blue Chip - 1500  प्रति माह
SBI Small Cap - 2000 प्रति माह
PPF- 8 लाख
FD- 5 लाख
गोल्ड बार- 3.5 लाख
मेरी कंपनी EPF में निवेश करती है
फैमिली फ्लोटर प्लान के तहत 6 लाख कवर है।


मुझे रिटायरमेंट के लिए NPS खाता खोलना चाहिए  या SIP बढाना चाहिए, पोर्टफोलियो में MF का चुनाव कैसा है, बेटी की पढ़ाई के लिए 5 साल में 20 लाख चाहिए
और उसके बाद बेटी की शादी के लिए 10 साल के बाद 20 लाख चाहिए। 


ऋषि मेहरा की सलाहः रिटायरमेंट के लिए NPS और MF का मिक्स पोर्टफोलियो बनाएं। NPS में 75 प्रतिशत निवेश इक्विटी में होता है। MF में SIP करने पर 100 प्रतिशत निवेश इक्विटी में होता है। रिटायरमेंट की रणनीति तय करने से पहले आप कॉर्पस तय करें। आपको रिटायरमेंट कॉर्पस के लिए बैकवर्ड प्लानिंग करना चाहिए।


मौजूदा पोर्टफोलियो में डेट में ज्यादा निवेश है। हालांकि फंड का चुनाव अच्छा है। इसके अलावा Franklin India Prima मिडकैप फंड पोर्टफोलियो में जोड़ें। आपका मौजूदा निवेश के तहत 5 साल के बाद 6.2 लाख जमा होगा। बेटी की पढाई का लक्ष्य पाने के लिए SIP 20 हजार से बढाना होगा। बढ़ी हुई SIP Franklin India Prima और Aditya Birla Sunlife Equity में निवेश करें।