Moneycontrol » समाचार » रिटायरमेंट

रिटायरमेंट की हैं प्लानिंग, इन बातों को ना करें नजरअंदाज

प्रकाशित Wed, 26, 2019 पर 11:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

रिटायरमेंट के लिए हम सब कब चिंता करते हैं? बच्चों की शादी या शायद परिवार की तमाम जिम्मेदारियां पूरी करने के बाद लेकिन योर मनी के जरिए हमारी यही कोशिश है कि आप अपने रिटायरमेंट के लक्ष्य के प्रति थोड़े जागरूक हो जाएं और बाकी लक्ष्यों के साथ इसके लिए भी प्लानिंग शुरू कर दें। आपकी रिटायरमेंट की प्लनिंग में मदद करने के लिए हमारे साथ मौजूद है Roongta Securities के डायरेक्टर हर्षवर्धन रूंगटा।


रिटायरमेंट के समय इन बातों का रखें ध्यान


रिटायरमेंट के समय नियमित आय की जरूरत होती है क्योंकि आय के बाकी स्रोत खत्म हो जाते है। 


रिटायरमेंट प्लानिंग में गलतियां


सिर्फ FD, स्मॉल सेविंग स्कीम पर आश्रित रहना गलत है। इन विकल्पों में लॉक-इन के साथ रिटर्न कम होता है। रिटर्न पर टैक्स से और कम मुनाफा मिलता है।


रिटायरमेंट के लिए क्या करें?


रिटायरमेंट के लिए मार्केट लिंक्ड म्यूचुअल फंड में निवेश करें। टैक्स के बाद भी बेहतर रिटर्न मिलता है। डिविडेंड पे-आउट की बजाय SWP यानि सिस्टेमैटिक विड्रॉल प्लान चुनें। इमरजेंसी फंड के राशि का मूल्यांकन करें।


सवालः मेरी उम्र 65 साल है और मुझे 15 लाख रुपये एकमुश्त निवेश करना है। 10,000 की SIP शुरू करनी है जिसके लिए  FT Equity, FT Equity Advantage, L&T Emerging Business, L&T Equity, Reliancce Value Fund, SBI Bluechip 5000 और Kotak Standard Multicap 5000 फंड में निवेश कर रहे है। फंड पर सलाह चाहिए?
   
हर्षवर्धन रूंगटा:
रिटायरमेंट के बाद इक्विटी में निवेश करें। पेंशन या नियमित आय से इक्विटी में निवेश कर सकते हैं। पोर्टफोलियो में स्कीम सही है। SCSS यानि सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में 15 लाख रुपये एकमुश्त निवेश करें। SCSS- स्कीम में ब्याज की दर- 8.7 फीसदी है। आप 15 लाख इक्विटी में भी निवेश कर सकते हैं। हर फंड में 1.5 लाख निवेश करें। मौजूदा 7 स्कीम में 10.5 लाख निवेश और IDFC Nifty में 4.5 लाख निवेश है। Reliance Value Discovery से निकल सकते हैं। ICICI Value Discovery में निवेश करें।