Moneycontrol » समाचार » रिटायरमेंट

योर मनीः रिटायरमेंट पर मिली रकम, कहां करे निवेश

हम हमारे हर दर्शक की जरूरत को समझते हैं, और इस लिए उनके काम आर्थिक रणनीति लेकर हम हर रोज हाजिर रहते हैं।
अपडेटेड Jan 18, 2018 पर 14:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हम हमारे हर दर्शक की जरूरत को समझते हैं, और इस लिए उनके काम आर्थिक रणनीति लेकर हम हर रोज हाजिर रहते हैं। फेसबुक, ट्वीटर, व्हाट्सएप पर भेजे गए तमाम सवाल आज हम शो में शामिल करेंगें। योर मनी का फोकस आज रिटारमेंट, एनआरआई निवेश और बच्चों की बढाई की आर्थिक प्लानिंग पर होगा। हमारा साथ देने के लिए मौजूद है फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या।


सवालः 50 लाख का रिटायरमेंट की रकम मिली है। रिटायरमेंट की रकम को निवेश करना है। पत्नी के लिए हेल्थ इंश्योरेंस लेना है। मौजूदा समय में एचडीएफसी क्लिक टू इन्वेस्ट में हर महीना 5,000 रुपये का निवेश करना है। क्या पत्नी के गृहिणि होने पर भी हेल्थ इंश्योरेंस मिल सकता है?


अर्णव पंड्याः रिटायरमेंट की रकम को निवेश करें। 50 लाख को नियमित आय के लिए निवेश करें। 15 लाख के लिए सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम चुनें। सरकार के 7.75 फीसदी सेविंग्स बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं। लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी इस उम्र में ना लें। पत्नी के लिए इंश्योरेंस प्लान ले सकते हैं।


सवालः ईएलएसएस स्कीम में निवेश पर सलाह चाहिए। मौजूदा समय में पीपीएफ में 1 लाख रुपये, एनपीएस में 20,000 रुपये और होम लोन का ईएमआई भी जमा करते हैं।


अर्णव पंड्याः ईएलएसएस फंड में सेक्शन 80सी के तहत टैक्स बचत किया जा सकता है। ईएलएसएस फंड में 3 साल का लॉक-इन पीरिय़ड है। होम लोन का ईएमआई और पीपीएफ पर भी टैक्स बचत है। सालाना 1.5 लाख तक के निवेश पर टैक्स बचत है। सभी निवेश मिलाकर कुल 1.5 लाख तक रकम पर टैक्स बचत मिलती है। लिमिट पार करने के बाद टैक्स बचत के लिए निवेश का फायदा नहीं मिलेगा। ईएलएसएस फंड की बजाय डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड चुनें।