Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

'खत्म हो गया है कोरोना का डर अब लोग जी सकते हैं सामान्य जीवन'

उन्होंने कहा कि इकोनॉमी और सामान्य लोगों के हितों के लिए लॉकडाउन (Lockdown)को खोलकर 1 अगस्त से जीवन पूवर्वत करना चाहिए।
अपडेटेड Aug 03, 2020 पर 11:01  |  स्रोत : Moneycontrol.com

वंचित बहुजन आघाड़ी के नेता प्रकाश आंबेडकर (Prakash Ambedkar) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमित रोगियों में 80 प्रतिशत में प्राकृतिक प्रतिकार क्षमता बढ़ गई है। सिर्फ 15 प्रतिशत लोग सीमा रेखा पर और 5 प्रतिशत लोग गंभीर अवस्थता मे हैं जिनका उपचार करके उन्हें ठीक किया जा सकता है। इसलिए केवल 5 प्रतिशत लोगों के कारण 95 प्रतिशत लोगों को पाबंदियों में रखना ठीक नहीं है।


उन्होंने कहा कि इकोनॉमी और सामान्य लोगों के हितों के लिए लॉकडाउन (Lockdown)को खोलकर 1 अगस्त से जीवन पूवर्वत करना चाहिए क्योंकि अब कोरोना का डर निकल गया है और लोग सामान्य जीवन जी सकते हैं। इसीलिए प्रकाश आंबेडकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए मास्क का उपयोग भी नहीं किया।


प्रकाश आंबेडकर ने कहा कि इकोनॉमी चरमरा गई है इसलिए उसे पटरी पर लाने की जिम्मेदारी सरकार की है। लोगों के अब खुद को बचाने के लिए सामान्य जनजीवन शुरू करना चाहिए। महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक उन्होंने यहां तक कहा कि बकरी ईद, रक्षाबंधन, अण्णा भाऊ साठे जयंती भी मनानी चाहिए। कम से कम रक्षाबंधन को सार्वजनिक परिवहन शुरू करना चाहिए।


राममंदिर पर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अगले दो दिनों में वे राम मंदिर पर अपनी भूमिका स्पष्ट करेंगे। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में उनके साथ वंचित बहुजन विकास आघाड़ी के अन्य पदाधिकारी भी माजूद थे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।