Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू

Yes bank: जानिए इसमें रिटेल निवेशकों को अब क्या करना चाहिए?

यस बैंक को निवेशक मिल गए लेकिन फिर भी उसकी मुश्किल दूर नहीं हुई है, जानिए निवेशक कैसे नुकसान से बच सकते हैं
अपडेटेड Dec 04, 2019 पर 11:31  |  स्रोत : Moneycontrol.com

यस बैंक (Yes Bank) के निवेशकों को जैसे ही खुश होने को मिलता है, एक नई समस्या सामने आ जाती है। अभी पिछले हफ्ते शुक्रवार को बैंक ने ऐलान किया कि उसे 2 अरब डॉलर की फंडिंग हासिल हो गई है। अभी निवेशक इस बात से ठीक से खुश भी नहीं हो पाए थे कि सोमवार को यस बैंक (Yes Bank) के सामने नई मुश्किल आ गई और इसके शेयरों में बिकवाली रही।


ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म मैक्वायर ने इनवेस्टर्स की क्वालिटी को लेकर चिंता जताई है। मैक्वायर का कहना है कि इससे पहले उन्होंने कभी एरविन सिंह बराइच का नाम नहीं सुना है। ब्रोकरेज हाउस को आशंका है कि इन निवेशकों को RBI उन्हें 10 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी लेने की अनुमति देगा।


क्या करें निवेशक?


यस बैंक (Yes Bank) के फाउंडर राणा कपूर ने जब अपनी हिस्सेदारी बेची थी, तब से अब तक इसके शेयर डबल से भी ज्यादा हो गए हैं। उस वक्त इसके शेयरों में निवेश करने वालों को काफी प्रॉफिट हुआ था। लेकिन निवेशकों को अब क्या करना चाहिए। क्या ट्रेड का मौका निकल गया या अभी भी खरीदारी कर सकते हैं।


CNBC TV 18 के अनुज सिंघल के मुताबिक, "जब तक यस बैंक (Yes Bank) के शेयर 100 रुपए तक नहीं पहुंच जाते इससे दूरी बनाना ही बेहतर है। ऐसा इसलिए क्योंकि 100 के पार जाने पर ही यह पक्का हो पाएगा कि यस बैंक (Yes Bank) मजबूत बना रहेगा। बैंक को कैपिटल की तुरंत जरूरत है।"


यस बैंक (Yes Bank) ने ऐलान किया था कि उसे 2 अरब डॉलर की फंडिंग मिल गई है। हालांकि निवेशकों के नाम सामने आने पर इस बात की उम्मीद बहुत कम है कि RBI उन्हें बड़े निवेश की इजाजत देगा। और अगर ऐसा होता है तो आपको बड़ा नुकसान होगा। इसलिए बेहतर यही होगा कि सुरक्षित निवेश करें।


यानी अभी से लेकर 10 दिसंबर तक फंड जुटाने की खबरें आती रहेंगी। अगर आप जुआ खेलना चाहते हैं तो खेल सकते हैं लेकिन नुकसान की जिम्मेदारी भी आपकी होगी। हालांकि अगर बैंक फंड जुटाने में कामयाब रहता है तो इससे फर्क नहीं पड़ेगा कि आपने 60 रुपए पर खरीदा या 80 रुपए पर।


F&O में क्या होगा?


एक और बात आपको जो ध्यान में रखना चाहिए वो यह है कि यस बैंक (Yes Bank) में F&O पोजीशन प्रीस्क्राइब्ड लिमिट से 91 फीसदी ऊपर हैं। सोमवार को हमने 10 पुट और 100 कॉल देखें थे जिसका साफ मतलब है कि यह शेयर F&O में बैन हो सकता है। अगर ऐसा होता है तो यह याद रखें कि आप ऑप्शन-फ्यूचर के जरिए एवरेजिंग भी नहीं कर पाएंगे और आपका पूरा पैसा डूब जाएगा।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।