बजट से पहले 3 दमदार एक्सपर्ट्स की 9 जोरदार पिक्स -
Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

बजट से पहले 3 दमदार एक्सपर्ट्स की 9 जोरदार पिक्स

प्रकाशित Thu, 25, 2018 पर 13:05  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जब बात बजट की हो तो आप भरोसा करते हैं सिर्फ सीएनबीसी-आवाज़ पर। इसी भरोसे को कायम रखने के लिए आवाज़ आपके लिए लेकर आया हैं निवेश के कुछ ऐसे मौके जो आपको बजट के मद्देनजर दे सकते हैं दमदार मुनाफा। यानि बजट हो कैसा भी आपकी कमाई पक्की है। इस खास शो में सीएनबीसी-आवाज़ के साथ हैं ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के डायरेक्टर संदीप जैन, ज्वाइंड्रे कैपिटल के हेड ऑफ रिसर्च अविनाश गोरक्षकर और रिस्क कैपिटल एडवाइजर्स के डी डी शर्मा


डी डी शर्मा की बजट पिक


दीवान हाउसिंग: खरीदें (1 साल के लिए) - 579, लक्ष्य - 750


डीडी शर्मा का कहना है कि बजट में अफोर्डेबल हाउसिंग पर फोकस संभव है। सरकार इंट्रेस्ट सब्सिडी बढ़ा सकती है।


एचसीसी: खरीदें (1 साल के लिए) - 40.50, लक्ष्य - 70


बजट में सरकार इंफ्रा पर फोकस बढ़ा सकती है। इंफ्रा पर फोकस बढ़ा तो कंस्ट्रक्शन सेक्टर अच्छा करेगा।


अदानी पोर्ट: खरीदें (1 साल के लिए) - 449, लक्ष्य - 600


इंफ्रा पर खर्च बढ़ाने के लिए मैट में राहत मुमकिन है। एसईजेड से एक्सपोर्ट बढ़ाने के लिए भी मैट में छूट संभव है।


अविनाश गोरक्षकर की बजट पिक


लासा सुपरजेनरिक्स: खरीदें (1 साल के लिए) - 173.45, लक्ष्य - 240


बजट में सरकार का पशुपालन पर फोकस हो सकता है जिससे पशु स्वास्थ्य से जुड़ी दवाओं की मांग बढ़ने की संभावना है।


फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज: खरीदें (1 साल के लिए) - 653.80, लक्ष्य - 750


रूरल, एग्री थीम पर बजट बन सकता है जिसका कंपनी को फायदा मिलेगा। कंपनी लगातार कर्ज भी घटा रही है। जीएसटी के बाद कंपनी के मार्जिन में सुधार संभव है।


ग्रीव्ज कॉटन: खरीदें (1 साल के लिए) - 136, लक्ष्य - 208


बजट में रूरल, एग्री पर फोकस से कंपनी को फायदा मिलेगा। कंपनी अगले 2 साल में एग्री कारोबार को बढ़ाएगी।


संदीप जैन की बजट पिक


मॉनसेंटो: खरीदें (6-9 महीने) - 2565, लक्ष्य - 3,050


चुनाव के मद्देनजर बजट में कृषि पर फोकस बढ़ेगा। सरकार 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुना करना चाहती है। बीज, कीटनाशक बनाने वाली कंपनियों को इससे फायदा होगा।


बामर लॉरी: खरीदें (6-9 महीने) - 244, लक्ष्य - 325


आयन एक्सचेंज: खरीदें (6-9 महीने) - 543, लक्ष्य - 675


स्वच्छ भारत अभियान का दायरा बढ़ सकता है जिससे वॉटर फिल्टर प्रोजेक्ट लगाने वाली कंपनियों को फायदा होगा। सीवेज ट्रीटमेंट लगाने वाली कंपनियों का काम भी बढ़ेगा।