Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

खराब क्वालिटी शेयरों में फिर फंसे निवेशक!

प्रकाशित Mon, 06, 2018 पर 12:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सेंसेक्स, निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर है लेकिन छोटे-मझौले शेयर अपने शिखर से अभी काफी दूर हैं। इस साल छोटे-मझौले शेयरों में पिटाई देखने को मिली उसमें सबसे ज्यादा धुलाई खराब क्वालिटी के शेयरों की हुई। गिरावट का आलम ये है कि कई शेयर अपने शिखर से 90 फीसदी तक टूटे हैं। इस गिरावट में सबसे ज्यादा हाथ रिटेल निवेशकों के जले हैं। अगर जून तिमाही के आंकड़ों पर नजर डालें तो खराब क्वालिटी के शेयरों में रिटेल निवेशकों की होल्डिंग बढ़ी है। कौन से हैं वो खराब शेयर जिन्हें रिटेल निवेशक खरीद रहे हैं और उनमें क्या करना चाहिए इस पर होगा हमारा फोकस - बच के रहना रे बाबा में।


केएसके एनर्जी अपने शिखर से 92 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 7.28 फीसदी बढ़ी है। क्वालिटी अपने शिखर से 90 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 4.77 फीसदी बढ़ी है। वक्रांगी अपने शिखर से 90 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 4.76 फीसदी बढ़ी है।


पीसी ज्वेलर अपने शिखर से 84 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 11.88 फीसदी बढ़ी है। जेपी इंफ्रा अपने शिखर से 81 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 4.61 फीसदी बढ़ी है। आईवीआरसीएल अपने शिखर से 81 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 3.95 फीसदी बढ़ी है।


सुनील हाईटेक अपने शिखर से 82 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 5.92 फीसदी बढ़ी है। रिलायंस नेवेल अपने शिखर से 78 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 4.9 फीसदी बढ़ी है। गैमन इंफ्रा अपने शिखर से 77 फीसदी टूटा है, जबकि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान इस शेयर में रिटेल होल्डिंग 4.25 फीसदी बढ़ी है।