Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले इन 5 शेयरों में करें निवेश

इन पांच शेयरों में निवेश से अगले 2 साल में आपको तगड़ा मुनाफा हो सकता है, जाने कौन कौन से शेयरों में निवेश करना रहेगा फायदेमंद
अपडेटेड May 06, 2019 पर 13:39  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण का मतदान हो रहा है। चुनाव के नतीजे 23 को आएंगे। ऐसे में अभी बाजार के लिए सबसे अहम क्या है? अगर हम BJP और कांग्रेस के घोषणा पत्र को देखें तो बाजार के जानकारों ने BJP को 5 में 4 और कांग्रेस को 5 में से 3 नंबर दिया है। चुनाव के नतीजों से पहले बाजार के रुख को ध्यान में रखते हुए आप इन शेयरों में निवेश से आप मुनाफा बना सकते हैं।


एनालिस्ट-विनीता शर्मा, हेड ऑफ रिसर्च, नारनोलिया फाइनेंशियल एडवाइडजर्स


स्टेट बैंक ऑफ इंडिया SBI


बैंक की एसेट क्वालिटी सुधर रही है। फिस्कल ईयर 2020 में मैनेजमेंट को उम्मीद है कि स्लिपेज घटकर 24K-30K करोड़ रुपए रह सकता है। स्लिपेज घटने से बैंक का नेट इंटरेस्ट मार्जिन NIM में सुधार हुआ है। 


मैरिको


कंजम्प्शन ग्रोथ के आधार पर मैरिको के वॉल्यूम ग्रोथ में 7-8 फीसदी की तेजी आ सकती है। सफोला ऑयल की बिक्री में धीरे-धीरे सुधार आ सकता है। वहीं पैराशूट रिजिड औऱ VAHO और नई लॉन्चिंग की वजह से कंपनी का डोमेस्टिक वॉल्यूम ग्रोथ बढ़ सकता है।


एनालिस्ट- रश्मिक ओजा, हेड ऑफ फंडामेंटल रिसर्च, कोटक सिक्योरिटीज


सूर्या रोशनी


कंपनी दो सेगमेंट में कारोबार करती है। लाइटिंग और स्टील पाइप्स। फिस्कल ईयर 2018 में कंपनी की 72 फीसदी आमदनी स्टील पाइप्स से आई थी। वहीं 28 फीसदी आमदनी लाइटिंग बिजनेस से आती है। इसमें सबसे बड़ा योगदान LED की है।


स्टील पाइप में कंपनी की 70 फीसदी सेल्स B2C फॉरमैट यानी हार्डवेयर स्टोर्स के जरिए करती है। कंपनी के डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क में 250 डीलर्स और 21,000 रिटेलर्स हैं। 


ओजा के मुताबिक, फिस्कल ईयर 2018-20 के बीच कंपनी का CAGR 18.7 फीसदी रह सकता है। इसके साथ ही इस दौरान कंपनी का कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट 1.08 अरब रुपए से बढ़कर फिस्कल ईयर 2020 में 1.5 अरब रुपए तक पहुंच सकता है।


जेके पेपर


इंडिया के कॉपी पेपर सेगमेंट में जेके पेपर मार्केट लीडर है। इसकी मार्केट हिस्सेदारी 23 फीसदी है। वहीं कोटेड पेपर सेगमेंट में यह दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। कच्चे माल की कैप्टिव प्रोक्योरमेंट, कम लॉजिस्टिक्स खर्च और पेपर की ग्लोबल कॉस्ट बढ़ने से अच्छी कीमत के कारण मार्जिन को सपोर्ट मिल रहा है।


सिरपुर यूनिट खरीदने और गुजरात में ब्राउनफील्ड एक्सपैंशन से कंपनी की पोजीशन मजबूत हुई है। ज्यादा प्रोडक्ट ऑफर करने से कंपनी का मार्केट शेयर भी बढ़ेगा। कुछ खास तरह के अनकोटेड पेपर पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगने से भी कंपनी को फायदा होगा। 
 
एनालिस्ट- राजीव रंजन सिंह, CEO, स्टॉक ब्रोकिंग कार्वी


ITC


एनालिस्ट का मानना है कि सरकार ग्रामीण सेक्टर पर फोकस बढ़ाएगी जिसका फायदा कंपनी को होगा। इसके अलावा अर्बन एरिया में कंजम्पशन बढ़ने से भी कंपनी को फायदा होगा।