Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

ऐसे शेयर जो नहीं देंगे धोखा, हमेशा करायेंगे भरोसेमंद मुनाफा

सरकारी कंपनियों का भी देश की तरक्की में अहम योगदान रहा है। तभी तो इन्हें महारत्न, नवरत्न पुकारते हैं।
अपडेटेड Oct 02, 2019 पर 12:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कहते हैं कि हिन्दुस्तान महापुरुषों की धरती है। बौद्ध, विवेकानंद, सरदार पटेल, गांधी जैसे महापुरुषों की एक लंबी फेहरिस्त है, जिनका देश निर्माण में बड़ा योगदान रहा है। इन महापुरुषों से देश को मजबूत बुनियाद मिली है। लेकिन देश की तरक्की तभी मुमकिन जब दूसरी संस्थाएं भी अपने काम को बखूबी अंजाम दें। देश की अलग-अलग संस्थाओं और कंपनियों ने अब तक शानदार काम किया है, इसलिए भारत, दुनिया की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में गिना जाता है।


सरकारी कंपनियों का भी देश की तरक्की में अहम योगदान रहा है। तभी तो इन्हें महारत्न, नवरत्न और मिनीरत्न कंपनियों के नाम से पुकारते हैं। लेकिन सीएनबीसी-आवाज़ का मकसद तो आपको उन कंपनियों के बारे में बताना है, जिसमें आपका पैसा बने। चलिए जानते हैं कि क्या है कमाई का BAPU STOCKS।


आशीष वर्मा की रायः RAIL VIKAS NIGAM LTD


इस कंपनी का मार्केट कैप  5000 करोड़ रुपये है। इसमें सरकार की 87.84 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसें मिनीरत्न का दर्जा हासिल है। यह रेलवे से जुड़ा काम करती है। कंपनी की Order book 77000 करोड़ से अधिक है।


यह एक कर्जमुक्त कंपनी है। कंपनी रेलवे के प्रोजेक्ट करती है जैसे लाइनों की डबलिंग, नई लाइन बिछना, विद्युतीकरण, गेज रूपांतरण, मेट्रो प्रोजेक्ट्स आदि कार्य कंपनी द्वारा रेल मंत्रालय के लिए किया जाता है।


नीरज वाजपेयी की रायः IOC


IOC एक नवरत्न कंपनी है। FY 19 में इसका टर्नओवर 6,05,924 करोड़ रुपये रहा। FY 19 मुनाफा 16,894 करोड़ रुपये रहा। FY 19 कॉरपोरेट टैक्स 33 प्रतिशत था जो अब 26 प्रतिशत हो गया है।


IOC का मार्केट कैप 138,765 करोड़ रुपये हैं। इसका ROCE 15.87 प्रतिशत और ROE 15.36 प्रतिशत है। कंपनी से स्टॉक का डिविडेंड यील्ड 6.12 प्रतिशत रहा और कंपनी ने स्टॉक पर डिविडेंट पेआउट 61 प्रतिशत बनाये रखा है। 3 साल में कंपनी की सेल्स ग्रोथ 15.14 प्रतिशत रही है।



हर्षदा सावंत की रायः BEML


BEML कंपनी में सरकारी हिस्से की बिक्री के लिए मंजूरी मिली है। अक्टूबर 2016 में 26 प्रतिशत हिस्सा बिक्री की मंजूरी मिली थी। सरकार की अब पूरी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी है। सरकार का कंपनी में 54.03 प्रतिशत हिस्सा है। कंपनी VIL में 96.56 प्रतिशत हिस्सा बेचेगी। कंपनी की सब्सिडयरी Vignyan Industries Ltd है। एक अप्रैल 2019 तक कंपनी की ऑर्डर बुक 9125 करोड़ रुपये है।


BEML माइनिंग एंड कंस्ट्रक्शन, डिफेंस, रेल और मेट्रो के क्षेत्र में कारोबार करती है। सालाना आधार पर पहली तिमाही में कंपनी की आय 453.3 करोड़ रुपये से 28 प्रतिशत बढ़कर 580 करोड़ रुपये हो गई है। सालाना आधार पर पहली तिमाही में कंपनी का घाटा 162 करोड़ रुपये से घटकर 98 करोड़ रुपये हो गया है। कंपनी की अन्य आय 4.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 9 करोड़ रुपये हो गई है।



प्रदीप पंड्या की रायः BHARAT DYNAMICS


BHARAT DYNAMICS मिसाइल और टॉरपीडो मैन्युफैक्चरिंग का कारोबार करती है। कंपनी ने मिसाइल मैन्युफैक्यरिंग के लिए MBDA से करार किया है।


MBDA यूरोपीयन कंपनी है। कंपनी की मिसाइल निर्यात करने की भी योजना है। आकाश मिसाइल के लिए 5500 करोड़ का ऑर्डर मिला है।


सुमित की रायः HAL


HAL एक सरकारी एरोनॉटिक्‍स कंपनी है। यह ट्रेनर और कॉमबैट हेलिकॉप्टर उत्पादन करती है। इसमें Make In India के तहत उत्पादन किया जाता है। कंपनी ISRO के लिए भी कंपनी करती है। डिफेंस पर सरकारी खर्च बढ़ने से कंपनी को फायदा होगा। सरकार का देश में हथियार का आयात कम करने पर फोकस है। कंपनी की कुल 59000 करोड़ की ऑर्डरबुक है।


वरुण दुबे की रायः MISHRA DHATU


MISHRA DHATU इस कंपनी को मिनीरत्न का दर्जा हासिल है। यह कंपनी स्पेशल स्टील, सुपरएलॉय मैन्युफैक्चरिंग में कारोबार करती है। देश में Titanium  की एकमात्र उत्पादक कंपनी है। कंपनी की कुल आय में डिफेंस सेक्टर का 71 प्रतिशत योगदान है।


MISHRA DHATU ने एल्युमिनियम प्लांट के लिए NALCO के साथ JV किया है। यह कंपनी हैदराबाद में Spring लगाएगी। इसके अलावा कंपनी गगनयान मिशन के लिए उपकरण सप्लाई करेगी। 
 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।