Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

रूठी किस्मत संवारने वाले विघ्नहर्ता शेयर

प्रकाशित Wed, 12, 2018 पर 13:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लंबोदर, पीताम्बर, विघ्नहर्ता, अष्टविनायनक श्री गणेश का आगमन हो चुका है। जब भी किसी काम का शुभारम्भ किया जाता है तो सबसे पहले मंगलमूर्ति गणेश की ही पूजा की जाती है। माना जाता है कि इससे घर में खुशियां और समृद्धि आती है। इसलिए सीएनबीसी-आवाज़ ने सोचा क्यों ना गणेश चतुर्थी के खास मौके पर मुनाफे का श्रीगणेश किया जाए। अष्टविनायक  आर्शिवाद लेते हुए हम आपको 8 दमदार शेयर बताने जा रहे हैं जो आपके पोर्टफोलियो की सभी बाधाओं को दूर करेंगे और मुनाफे का दमदार योग बनाएंगे।


विघ्न हरने वाले बेहतरीन शेयर


टाइटन: जेम्स एंड ज्वेलरी सेक्टर की दिग्गज कंपनी है। ये देश की दिग्गज मैन्युफैक्चरर और रिटेलर है। पिछले 10 सालों में इसने जबरदस्त रिटर्न दिया है। 10 सालों में ये शेयर 56 रुपये से बढ़कर 820 रुपये पर पहुंच गया है। कंपनी की साड़ी सेगमेंट में उतरने की योजना है। आने वाले वक्त में भी इसमें तेज ग्रोथ की उम्मीद है।


सिप्ला: कंपनी मैनेजमेंट का 10 फीसदी से ज्यादा ग्रोथ का गाइडेंस है। वित्त वर्ष 2019 में कंपनी की 20 से ज्यादा प्रोडक्ट लाने की तैयारी है। दूसरी कंपनियों की तरह इसमें ज्यादा रेगुलेटरी दिक्कतें नहीं हैं। इसका डेट इक्विटी रेश्यो महज 0.14 है। आगे सिप्ला में तेज ग्रोथ की उम्मीद है।


आईटीसी: ये एफएमसीजी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी है। आईटीसी एफएमसीजी में सबसे सस्ते वैल्युएशन पर मिल रहा है। जीएसटी के बाद टैक्स की अनिश्चितता दूर हुई है। ई-सिगरेट पर बैन से आईटीसी को फायदा होगा। कंपनी का सिगरेट के अलावा दूसरे बिजनेस पर जोर है। आगे कंपनी के एग्री, पेपर, होटल कारोबार में ग्रोथ की उम्मीद है। कंपनी की इस साल 30-40 नए प्रोडक्ट लॉन्च की योजना है। इसका 2030 तक 1 लाख करोड़ रुपये की आय का लक्ष्य है।


एलएंडटी: ये इंफ्रा सेक्टर का दिग्गज खिलाड़ी है। कंपनी के पास करीब 3 लाख करोड़ रुपये के ऑर्डर हैं। आगे कंपनी के घरेलू और इंटरनेशनल बाजार में तेज ग्रोथ की उम्मीद है। एलएंडटी की बैलेंस सीट मजबूत है। कंपनी की तरफ से एक और बायबैक के एलान की उम्मीद है।


टाटा स्टील: ये टाटा ग्रुप की दिग्गज स्टील कंपनी है। 50 देशों में कंपनी का कारोबार है। कोरस की घाटे वाली यूनिट बंद करने से कंपनी को फायदा हुआ है। भूषण स्टील के अधिग्रहण का फायदा भी कंपनी को मिलेगा। कलिंगनगर प्लांट विस्तार से कंपनी की कमाई बढ़ने की उम्मीद है।


टाटा मोटर्स: वित्त वर्ष 2019-21 में टाटा मोटर्स का मार्जिन का लक्ष्य 4-7 फीसदी पर कायम है। जून तिमाही के कंपनी के स्टैंडअलोन नतीजे काफी मजबूत रहे हैं। जेएलआर के नए मॉडल लॉन्च करने से भी कंपनी को फायदा होगा।


टीसीएस: ये देश की सबसे दिग्गज आईटी कंपनी है। इसका मार्केट कैप 8 लाख करोड़ रुपये है। बीएफएसआई से कंपनी की 30 फीसदी आमदनी आती है। कंपनी की डिजिटल सर्विस में अच्छी पकड़ है। वित्त वर्ष 2019 में डबल डिजिट ग्रोथ की उम्मीद है। रुपये की कमजोरी से कंपनी की मार्जिन सुधरेगी। इस साल मार्जिन 26-28 फीसदी रहने का अनुमान है।


एचडीएफसी बैंक: इस शेयर को लेकर एनपीए की दिक्कतें परेशान नहीं करती। इस शेयर ने पिछले कई सालों से जोरदार रिटर्न दिया है। पिछले 5 साल से इसका सीएजीआर 20 फीसदी से ज्यादा रहा है। अगले 3 साल तक 24 फीसदी सालाना ग्रोथ का अनुमान है। बैंक में एफआईआई और डीआईआई होल्डिंग 65 फीसदी से ज्यादा है। एचडीएफसी बैंक सभी मानकों में दूसरे बैंकों से बेहतर है। इसके वैल्युएशन महंगे हैं लेकिन ये सबका चहेता शेयर है।