Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

शुगर सेक्टर: आगे भी देगा मीठे-मीठे रिटर्न

चुनावी साल में सरकार का पूरा जोर गन्ना किसानों पर है और लगातार सरकार इस सेक्टर को मीठी सौगात दे रही है।
अपडेटेड Nov 13, 2018 पर 13:05  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार इस वक्त चीनी का दीवाना है। शुगर उसे खूब भा रही है। हालांकि शुगर सेहत के लिए खराब होती है लेकिन हम बात कर रहे हैं वो मुनाफे वाली चीनी की। जिन निवेशकों का पोर्टफोलियो शुगर फ्री है वो इसका दर्द अच्छे से समझ रहे हैं। पिछले 5 महीने में निवेशकों को शुगर सेक्टर ने मीठे मीठे रिटर्न दिए है। दरअसल चुनावी साल में सरकार का पूरा जोर गन्ना किसानों पर है और लगातार सरकार इस सेक्टर को मीठी सौगात दे रही है। इसी वजह से बाजार इस सेक्टर को लेकर काफी बुलिश नजर आ रहा है। अब बड़ा सवाल ये है कि शुगर सेक्टर क्या आगे भी जोरदार रिटर्न देगा और पोर्टफोलियो में कितनी शुगर होनी चाहिए? इस पर बात करने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ के साथ हैं मार्केट एक्सपर्ट अंबरीश बालिगा और ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के संदीप जैन।


चीनी कंपनियों के मीठे रिटर्न की बात करें तो जुलाई 2018 से धामपुर शुगर ने 120 फीसदी, बलरामपुर चीनी ने 82 फीसदी, द्वारिकेश शुगर ने 78 फीसदी, बजाज हिंदुस्तान 74 फीसदी और त्रिवेणी इंजीनियरिंग ने 44 फीसदी रिटर्न दिए हैं।


अंबरीश बालिगा की पसंद


बलरामपुर चीनी: खरीदें - 113 रुपये, 1 साल का लक्ष्य - 158 रुपये


केसीपी शुगर: खरीदें - 21 रुपये, 1 साल का लक्ष्य - 35 रुपये


प्राज इंडस्ट्रीज: खरीदें - 117 रुपये, 1 साल का लक्ष्य - 165 रुपये


संदीप जैन की पसंद


बलरामपुर चीनी: खरीदें - 113 रुपये, 6-9 महीने का लक्ष्य - 140 रुपये


ईआईडी पैरी: खरीदें - 237 रुपये, 6-9 महीने का लक्ष्य - 310 रुपये


इंडिया ग्लाइकोल: खरीदें - 365 रुपये, 6-9 महीने का लक्ष्य - 490 रुपये