Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

क्यों आई गिरावट, किन शेयरों पर करें भरोसा

निफ्टी 8750 के नीचे फिसलकर बंद हुआ है, जबकि सेंसेक्स 100 अंकों से ज्यादा कमजोर हुआ है।
अपडेटेड Oct 05, 2016 पर 16:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

यूरोप में कमजोरी से घरेलू बाजारों पर दबाव देखने को मिला है। यूरोपीय बाजारों में 0.5-0.75 फीसदी की कमजोरी आई है। सेंसेक्स और निफ्टी 0.25 फीसदी से ज्यादा की गिरावट के साथ बंद हुए हैं। गिरावट के इस माहौल में निफ्टी 8750 के नीचे फिसलकर बंद हुआ है, जबकि सेंसेक्स 100 अंकों से ज्यादा कमजोर हुआ है। कमजोरी की ओर रुख करने से पहले आज सेंसेक्स ने 28478 तक दस्तक दी थी, लेकिन अंत में 28200 के आसपास बंद हुआ है। यही नहीं आज निफ्टी 8800 को पार करने में कामयाब हुआ था।


एंजेल ब्रोकिंग के मयूरेश जोशी का कहना है कि केमिकल सेक्टर में अन्य देशों से मुकाबले के लिहाज से ज्यादा तेजी देखा रहे है। और आनेवाले समय में यह तेजी बरकारार रहने की उम्मीद है। लिहाजा इस सेक्टर में जिन निवेशकों ने अपने पोर्टफोलियो में एसआरएफ, कनोरिया केमिकल, नवीन फ्लोरिंन में बने रहने की सलाह होगी। इस सेक्टर में वॉल्यूएशन आनेवाले समय में भी बरकरार रहने की उम्मीद है।


टाटा ग्रुप में के सभी शेयर अडरवैल्यूड है। टाटा केमिकल और टाटा में कम्यूनिकेशंस में अपने बिजनेंस को और बढ़ाने में काम कर रहे है। अगर इनके नंबर अच्छे आते है तो इनमें तेजी की उम्मीद है। अगर किसी को टाटा ग्रुप में निवेश करना हो तो वह टाटा मोटर्स, टाटा मोटर्स डीवीआर में खरीदारी की जा सकती है।


चॉइस ब्रोकिंग के सुमीत बगड़िया का कहना है कि ज्यादातर कावेरी सीड्स में बिकवाली की पोजिशन ही देखने को मिली है। लेकिन मौजूद समय में जिस प्रकार से इसमें तेजी देखने को मिल रही है उससे कहां जा सकता है कि आनेवाले समय में इसमें तेजी बरकरार रह सकती है। जिसके तहत मौजूदा स्तर से इसमें 25 फीसदी तक की बढ़त संभव है। लिहाजा इसमें 390 रुप ये के स्टॉपलॉस के साथ 440 रुपये के लक्ष्य के लिए 3-4 दिनों के लिए खरीदारी की जा सकती है।


रेलिगेयर सिक्योरिटीज में कोर क्लाइंट ग्रुप के प्रेसिडेंट आशु मदान का कहना है कि क्रेडिट पॉलिसी के बाद बाजार में जिस प्रकार की तेजी देखने की उम्मीद थी उतनी मिली नहीं। मौजूदा समय में इसका कारण जियो पॉलिटिकल और ग्लोबल मार्केट है। अगर केवल भारतीय बाजारों की बातें कि जाएं तो बाजार अपने वेट में किसी तरह की कोई गिरावट आने की संभावनाएं नहीं है।


पिछले एक्सपायरी के डर से बाजार अपने आप को अब तक उबार नहीं पा रहे हैं। अगर सर्जिकल स्ट्राइक बीते गुरुवार को ना होकर शुक्रवार या शनिवार को होता तो बाजार में 25 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिलती।  लेकिन बाजार मे कोई बड़ी गिरावट नजर नहीं आ रही।


टूरिज्म फाइनेंस में लंबी अवधि के लिहाज से खऱीदरी करें तो इसमें री- रेटिंग की संभावनाएं बनी है। साथ ही इसमें आनेवाले दिनों में और भी तेजी की उम्मीद है। लिहाजा मौजूदा निवेशकों को इसमें बने रहने की सलाह होगी। टायर सेक्टर में एमआरएफ में लंबी अवधि के लिहाज से खरीदारी की जा सकती है। साथ ही इसमें मौजूदा निवेशकों को बने रहने की भी सलाह होगी। सीएट में भी तेजी देखने को मिल रही है। लिहाजा इसमें भी किसी भी गिरावट पर खरीदारी की जा सकती है।


पावरमायवेल्थ डॉट कॉम के संदीप वागले का कहना है कि नोसिल में 72 रुपये के स्तर पर कारोबार करता है तो इसमें खरीदारी की जा सकती है। साथ ही मौजूदा निवेशकों को इसमें 69 रुपये के स्टॉपलॉस के साथ बने रहने की सलाह होगी। डीएलएफ में पोजिशनल नजरिया ऱख 157 रुपये के स्टॉपलॉस के साथ 168 रुपये के लक्ष्य के लिए खरीदारी की जा सकती है।