Moneycontrol » समाचार » टैक्स

जानिए इनकम टैक्स नोटिस आने के बाद आपको क्या करना चाहिए?

इनकम टैक्स नोटिस आने पर ज्यादातर लोग घबरा जाते हैं लेकिन आपको घबराना नहीं है बल्कि, मझदारी से उसका जवाब देना है
अपडेटेड Aug 27, 2019 पर 16:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ITR में थोड़ी सी लापरवाही बरतते ही आपको टैक्स नोटिस आ सकता है। लेकिन नोटिस आने के बाद आपको क्या करना चाहिए। नोटिस की अनदेखी करना गलत है। लिहाजा सही तरीके से इसका जवाब देना जरूरी है।


जानिए टैक्स नोटिस आने पर क्या करें?


सबसे पहले www.incometaxindiaefiling.gov.in पर लॉगइन करें। आप अपने अकाउंट के डैशबोर्ड पर अलग-अलग तरह के नोटिस देख सकते हैं। अलग-अलग तरह के नोटिस का जवाब भी अलग तरह से दिया जाता है।


131 (1A)


असेसमेंट करने वाले आईटी अधिकारी को जब यह लगता है कि टैक्सपेयर्स ने कोई इनकम छिपा ली है तो इनकम टैक्स नोटिस 131 (1A) भेजता है।


कैसे दें जवाब?


इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से मांगे गए सभी डॉक्यूमेंट अगर आप जमा नहीं कर पा रहे हैं तो आपके पास जितना डॉक्यूमेंट है वे सब डेडलाइन से पहले भेज दें। इसके साथ ही एक आवेदन दे सकते हैं कि आपको बाकी दस्तावेज देने के लिए थोड़ा ज्यादा वक्त चाहिए।


139 (9)


अगर आपने गलत रिटर्न भरा है तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट यह नोटिस भेजता है। गलत आईटी फॉर्म भरने, गलत इनकम डिटेल देने पर आपको यह नोटिस मिल सकता है।


कैसे दें जवाब?


15 दिन के भीतर जवाब दें। e-file टैब के नीचे e-File in response to Notice u/s 139(9) पर क्लिक करके प्रोसिड करें।


143 (1)


अगर आपने गलत जानकारी दी है। टैक्स गलत कैलकुलेट करके रिटर्न भरा है तो एडिशनल टैक्स के लिए आईटी डिपार्टमेंट डिमांड नोटिस भेजता है।


कैसे दें जवाब? 


इसका जवाब आपको 30 दिनों के भीतर देना चाहिए। e-proceeding में जाकर आप जवाब दे सकते हैं।


148


असेसमेंट में अगर आमदनी का कोई हिस्सा रह गया है तो रीअसेसमेंट के लिए यह नोटिस भेजा जाता है। इसके तहत 6 साल पुराने रिटर्न में भी आईटी डिपार्टमेंट रीअसेसमेंट के लिए नोटिस भेज सकती है।


कैसे दें जवाब?


जिस इनकम को लेकर यह नोटिस आया है उसका जिक्र इनकम टैक्स रिटर्न में करें। अगर आप नोटिस से सहमत नहीं हैं तो आप आईटी डिपार्टमेंट से उस वजह की एक कॉपी मांग सकते हैं जिसकी वजह से नोटिस भेजा गया है।


156


बकाया टैक्स, इंटरेस्टस, फाइन या पेनाल्टी की वसूली के लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट 156 के तहत टैक्स नोटिस भेजता है।


कैसे दें जवाब?


नोटिस मिलने के 30 दिनों के भीतर बकाया भुगतान करें। e-File में जाकर  Respond To Outstanding Demand पर क्लिक करके  टैक्स का भुगतान करें।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।