Moneycontrol » समाचार » टैक्स

Aadhaar-PAN लिंकिंग से ITR filing तक मार्च में इन कामों की है डेडलाइन

15 मार्च एडवांस टैक्स की चौथी और अंतिम किस्त के भुगतान की आखिरी तारीख है
अपडेटेड Mar 12, 2020 पर 13:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मार्च का महीना शुरू हो चुका है। यह महीना फाइनेंशियल ईयर (financial year) 2019-20 का आखिरी महीना है। इसी महीने में फाइनेंस से संबंधित कुछ चीजों की आखिरी तारीख आ रही हैं। आपको जागरूक रहने के लिए इन सब चीजों की जानकारी होनी चाहिए। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं जिनकी इस महीने में आखिरी तारीख पड़ रही है। इसमें रिवाइज्ड इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करना, एडवांस टैक्स किस्त का भुगतान करना, Tax deducted at source (TDS)  जमा करना शामिल है।


एडवांस टैक्स की चौथी किस्त भरने की तारीख 15 मार्च


15 मार्च को एडवांस टैक्स की चौथी और आखिरी किस्त भरने की अंतिम तारीख है। अगर टैक्स लाइबिलिटी 10,000 रुपये से ज्यादा है तो एडवांस टैक्स देना होगा। किश्तों के भुगतान के लिए चार तिथियां 15 जून, 15 सितंबर, 15 दिसंबर और 15 मार्च हैं।


बिलेटेड ITR भरने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2020


अगर किसी व्यक्ति ने फाइनेंशियल ईयर 2018-19 के लिए रिटर्न फाइल नहीं किया तो आपको 10,000 रुपये के लेट फीस के साथ 31 मार्च 2020 तक फाइल कर सकते हैं। इनकम टैक्स (Income Tax) विभाग के मुताबिक, अगर निर्धारित समय सीमा के भीतर रिटर्न फाइल नहीं करता है तो उसे कुछ दंड के साथ उसे रिटर्न फाइल करने की अनुमति दी जाती है।


31 मार्च तक पैन को आधार से लिंक करने की आखिरी तारीख


अगर आपने 31 मार्च 2020 तक पैन को आधर से लिंक नहीं किया तो आपका पैन कार्ड निष्क्रिय हो जाएगा। पैन और आधार को जोड़ने की समय सीमा कई बार बढ़ाई जा चुकी है। और मौजूदा समय में 31 मार्च 2020 आखिरी तारीख है।


31 मार्च तक भुगतान किए गए किराए पर टैक्स में कटौती


अगर कोई व्यक्ति जो किराए से रहता है और 50,000 रुपये से अधिक का किराया देता है, तो उस पर आपको टैक्स काटने की जरूरत है। इनकम टैक्स एक्ट के तहत भुगतान किए गए किराए पर टैक्स में कटौती करनी होती है। फाइनेंशियल ईयर में एक बार 5 फीसदी की दर से भुगतान किए गए किराए की कुल राशि पर काटा जाता है। घर खाली करने या फाइनेंशियल ईयर के आखिरी में कटौती की जाती है।


टैक्स सेविंग से जुड़े इनवेस्टमेंट करें 31 मार्च से पहले


टैक्स बचाने के लिए 31 मार्च 2020 से पहले आपको इनवेस्टमेंट प्रूफ देना होगा। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आप टैक्‍स-सेविंग्‍स डिडक्‍शन क्‍लेम नहीं कर सकेंग। नतीजतन आपको ज्‍यादा टैक्‍स देना पड़ेगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।