Moneycontrol » समाचार » टैक्स

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की डेडलाइन 30 नवंबर 2020 हुई, TDS में 25% की कटौती

सीतारमण ने कहा कि नॉन-सैलरीड पर TDS और TCS में 25 फीसदी कटौती से लोगों के पास खर्च करने लायक पैसा ज्यादा आएगा
अपडेटेड May 14, 2020 पर 16:31  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया कि फिस्कल ईयर 2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2020 से बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 कर दी गई है।


निर्मला सीतारमण ने कहा, "फिस्कल ईयर 2020 के लिए सभी तरह के इनकम टैक्स रिटर्न की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2020 और 31 अक्टूबर 2020 से बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 कर दी गई है। साथ ही ऑडिट कराने की आखिरी तारीख 30 सितंबर 2020 से बढ़ाकर 31 अक्टूबर 2020 कर दी गई है।"


निर्मला सीतारमण ने ये ऐलान 20 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज के तौर पर किया है। इनकम टैक्स रिटर्न की सीमा बढ़ाने के साथ डायरेक्ट टैक्स से जुड़े कई दूसरी छूट भी दी गई हैं।


TDS में भी कटौती


फाइनेंस मिनिस्टर ने नॉन-सैलरीड पेमेंट पर लगने वाले TDS में 25 फीसदी कटौती करने का ऐलान किया है। इससे 50,000 करोड़ रुपए की लिक्विडिटी रिलीज होगी।


सीतारमण ने कहा कि नॉन-सैलरीड पर TDS और TCS में 25 फीसदी कटौती से लोगों के पास खर्च करने लायक पैसा ज्यादा आएगा। इस छूट का फायदा सैलरी को छोड़कर हर तरह के पेमेंट पर मिलेगा। जैसे कॉन्ट्रैक्ट, प्रोफेशनल फीस, इंटरेस्ट, रेंट, डिविडेंड, कमीशन, ब्रोकरेज आदि।


यह छूट इस फिस्कल ईयर में जारी रहेगा। यानी इस छूट का फायदा आप 14 मई 2020 से लेकर 31 मार्च 2021 तक उठा सकते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।