Moneycontrol » समाचार » टैक्स

विदेश भेजे जाने वाले पैसों पर 1 अक्टूबर से लगेगा 5 फीसदी टैक्स

सरकार ने कुछ नियम बनाए हैं ताकि हर जगह TCS लागू न हो
अपडेटेड Sep 09, 2020 पर 16:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

विदेश में अगर आप पैसे भेजते हैं तो अब आपको सावधान रहने की जरूरत हैं। इसमें कुछ नियमों को ध्यान रखना जरूरी है। जो विदेश पैसे भेजते हैं उनको 1 अक्टूबर से लागू होने वाले TCS (Tax Collected at Source - कमाई पर लागू स्रोत) प्रावधान को ध्यान में रखना होगा। 2020 के फाइनेंस एक्ट ( Finance Act) के मुताबिक, RBI के liberalised remittance scheme के तहत विदेश भेजे जाने वाले पैसे पर 5 फीसदी TCS ((Tax Collected at Source - कमाई पर लागू स्रोत) देना होगा।


हालांकि सरकार ने इस मामले में कुछ छूट दी है, जिसके तहत विदेश भेजे जाने वाले सभी पैसों पर यह टैक्स लागू नहीं होगा। उदाहरण के तौर पर यह नियम भेजी जाने वाली राशि के 7000,000 रुपये से कम होने या कोई टूर पैकेज (tour package) खरीदने पर लागू नहीं होगा। इसके अलावा विदेश भेजे जाने वाली 700,000 रुपये से अधिक की राशि पर यह टैक्स तभी लागू होगा, जब यह राशि किसी टूर पैकेज के लिए नहीं होगी।


बहुत से भारतीय लोग विदेशों में पढ़ाई के लिए बैंकों या वित्तीय संस्थाओं (financial institutions) से कर्ज लेते हैं। इस स्थति को ध्यान में रखते हुए यह नियम बनाया गया है कि वित्तीय संस्थाओं से लोन लेकर जो पैसे पढ़ाई के लिए विदेश भेजे गए हैं और वो 700,000 रुपये ज्यादा हैं तो 0.5 फीसदी TCS लगाया जाएगा।


इसके अलावा देश में तमाम टैक्स पेयर्स पर TDS लागू होता है। ऐसे में यह नियम बनाया गया है कि अगर विदेश भेजने वाले टैक्स पेयर्स पर पहले से TDS लागू हो चुका है तो उस पर TCS से संबंधित प्रावधान लागू नहीं होंगे। 17 मार्च को फाइनेंस एक्ट में इन नियमों का ऐलान किया गया है। जो कि 1 अक्टूबर से लागू होंगे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।