Moneycontrol » समाचार » टैक्स

जाने आखिरी वक्त में टैक्स बचाने का सुपरफास्ट मंत्र

सुधीर कौशिक और गौरव मशरूवाला आपको बता रहे हैं आखिरी वक्त में टैक्स बचाने के गुर।
अपडेटेड Mar 26, 2016 पर 17:01  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्तीय साल खत्म होने वाला है और आपके पास टैक्स प्लानिंग के लिए अब सिर्फ चंद दिन बचे हैं। ऐसे में भारी कंफ्यूजन होता है कि कहां निवेश करें, कितना करें और कहीं ऐसा न हो कि गलत निवेश हो जाए लेकिन हम आपका कंफ्यूजन दूर करेंगे।  आपको बताएंगे कि कहां निवेश किया जा सकता है। यहां टैक्स एक्सपर्ट सुधीर कौशिक और फाइनेंशियल प्लानर गौरव मशरूवाला आपको बता रहे हैं आखिरी वक्त में टैक्स बचाने का गुर।


जानकारों के मुताबिक ईएलएसएस यानी इक्विटी लिंक सेविंग स्कीम निवेश का काफी बेहतर टैक्स फ्री इंस्ट्रूमेंट है, आखिरी वक्त में इसमें थोड़ा इन्वेस्टमेंट किया जा सकता है, इसका रिटर्न लंबे समय में काफी बेहतर होता है।  ईएलएसएस किसी भी फंड के साथ शुरु किया जा सकता है, इसके लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन भी दी जा सकती है। इसमें कोई निऴेस सीमा नहीं है।


लंबे समय के निवेश के लिए पीपीएफ सबसे अच्छा टैक्स फ्री इंस्ट्रूमेंट है। इसमें जमा, ब्याज और रकम निकालने पर टैक्स नहीं लगता लेकिन 15 साल के लिए लॉक-इन होता है। इसमें 1.5 लाख तक की रकम जमा की जा सकती है। सरकारी बैंकों और पोस्ट ऑफिस में इसका अकाउंट खोला जा सकता है।


राष्ट्रीय बचत पत्र भी टैक्स बचाने के लिहाज से बेहतर टैक्स फ्री इंस्ट्रूमेंट है इसमें एकमुश्त रकम ही लगानी पड़ती है, हालांकि इसमें रिटर्न ज्यादा नहीं मिलता है। पांच साल के इस टैक्स फ्री इंस्ट्रूमेंट में निवेश की कोई सीमा नहीं है, पोस्ट ऑफिस ये एनएससी खरीदी जा सकती है जिसका ब्याज 8.1 फीसदी है।


टैक्स बचाने के लिहाज से एफडी भी एक विकल्प है। बैंक में नियत समय के लिए एफडी की जा सकती है लेकिन इसमें मियाद पूरी होने पर टैक्स लगता है लेकिन ब्याज पर टैक्स नहीं लगने से इफेक्टिव रेट काफी कम हो जाता है। अलग -अलग बैंकों और मियाद के मुताबिक ब्याज होगी जो 6 फीसदी से 9 फीसदी तक हो सकती है। किसी भी सरकारी या निजी बैंक में एफडी की जा सकती है।


जानकारों की सलाह है कि मार्च के आखिर में बीमा पॉलिसी खरीदने से बचना चाहिए, जल्दबाजी में गलत निवेश होने की पूरी संभावना रहती है क्योंकि एजेंट आपको पूरा डॉक्यूमेंट पढ़ने का वक्त नहीं देता इसलिए कोई कमिटमेंट नहीं करें। वहीं पीपीएफ में किसी भी महीने की 1 से 5 तारीख तक जमा करने पर ही ज्यादा फायदा होता है। इसलिए इस वक्त थोड़ी रकम ही लगाएं। पीपीएफ में निवेश का सही समय 1 से 5 अप्रैल के बीच एकमुश्त रकम लगाना है, इसमें 8.1 फीसदी ब्याज मिलता है। जानकारों की ये भी सलाह है कि ईएलएसएस में एकमुश्त रकम नहीं लगाएं, इसमें बेस्ट रिटर्न एसआईपी पर ही मिलता है।


वीडियो देखें