Moneycontrol » समाचार » टैक्स

प्रीमियम पर जमा GST, जानिए कैसे मिलेगा GST पर टैक्स छूट का फायदा

मौजूदा वित्त वर्ष खत्म होने वाला है और 1 अप्रैल से नई वित्त वर्ष की शुरुआत हो जायेगी।
अपडेटेड Feb 28, 2020 पर 17:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इनकम टैक्स बचाने का हो टेंशन या फिर जीएसटी के पेचींदे नियमों की हो उलझन, अटका हो रिफंड या फिर मुश्किल में फंसा हो रिटर्न। हर मुश्किल सवाल का आसान जवाब है टैक्स गुरु। जहां पर ना केवल टैक्सपेयर्स अपने टैक्स की बचत करता है बल्कि टैक्स गुरु आपको टैक्स के उलझनों को सुलझाने के गुर भी सिखाते है। टैक्स से जुड़ी उलझनों को सुलझाने के लिए हमारे साथ मौजूद है टैक्स एक्सपर्ट गौरी चढ्ड़ा।


मौजूदा वित्त वर्ष खत्म होने वाला है और 1 अप्रैल से नई वित्त वर्ष की शुरुआत हो जायेगी। ऐसे में जरुरी ये है कि आप किन बातों का ख्य़ाल रख अपने टैक्स प्लानिंग की चेकलिस्ट बनाएं।


गौरी चढ्ड़ा का कहना है कि टैक्स प्लानिंग के लिए फॉर्म 26AS को जरुर चेक करें। काटा गया TDS, फॉर्म 26AS में जरुर नजर आना चाहिए। फॉर्म 26AS में गलत जानकारी पर क्रेडिट अटक सकता है। 31 मार्च 2020 तक पुराना रिटर्न जरुर फाइल करें। पेनाल्टी के साथ रिटर्न भरें वरना दोबार मौका नहीं मिलेगा। टैक्स सेविंग के इंस्ट्रूमेंट्स को पूरा इस्तेमाल करें। कहीं टैक्स बचाने की गुंजाइश हो तो जरुर निवेश करें। साल में कुछ बचत खातों में न्यूनतम राशि जमा करनी होती है।


गौरी चढ्ड़ा ने आगे कहा कि PPF खाते में हर महीने न्यूनतम 500 रुपये जमा करने होते है। एडवांस टैक्स 15 मार्च से पहले जमा कराए। निवेश से जुड़े सभी दस्तावेज अपने एम्प्लॉयर को जमा करें। इनकम टैक्स पोर्टल पर अपने अकाउंट को समय पर चेक करें। इनकम टैक्स विभाग का कोई नोटिस आया हो तो उसका जवाब दें।


प्रीमियम पर जमा GST पर टैक्स छूट


हेल्थ और लाइफ इंश्योरेंस के प्रीमियम पर GST पर छूट चुकाए। प्रीमियम की राशि के साथ-साथ जमा GST पर भी टैक्स बेनिफिट लें। हेल्थ इंश्योरेंस के बेसिक प्रीमियम पर 18% GST लगता है। सेक्शन 80D के तहत टैक्स बेनिफिट क्लेम कर सकते है। टर्म प्लान और यूलिप के एक- एक हिस्से पर भी टैक्स छूट ले सकते है। फंड मैनेजर और दूसरे चार्जेज पर चुकाए GST को क्लेम करें। अगर टीसीएस कट जाए तो रिटर्न में जानकारी दें। रिटर्न में जानकारी से रिफंड मिल जाएगा।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।