Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः नोटबंदी के हर सवाल का जवाब

टैक्स गुरु में आज हम नोटबंदी पर फोकस करेंगे और इससे जुड़े हर पहलु चर्चा करेंगे।
अपडेटेड Nov 26, 2016 पर 18:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स गुरु में आज हम नोटबंदी पर फोकस करेंगे और इससे जुड़े हर पहलु चर्चा करेंगे, दर्शकों के सवालों को शामिल करेंगे और इसमें हमारी मदद करेंगे टैक्स एक्सपर्ट मुकेश पटेल


15 नवबंर को वियमन114-(बी) और 114(ई) में संशोधन किए गए है। पैन नहीं होने पर एक बार में 50,000 रुपये ज्यादा रकम डिपॉजिट नहीं होगी। 9 नवंबर-30 दिसंबर के बीच 2.5 लाख रुपये से ज्यादा रकम जमा होने पर बैंक आईटी विभाग को रिपोर्ट देंगे। बैंक 31 जनवरी 2017 तक अपनी रिपोर्ट आईटी विभाग को सौंप देंगे। हालांकि पहले बैंकों को बचत खाते में 10 लाख रुपये जमा होने पर रिपोर्ट सौंपनी होती थी। लेकिन अब करेंट अकाउंट के लिए लिमिट 12.5 लाख रुपये है।  


बचत खाते में 2.5 लाख तक जमा करने की राहत सिर्फ पैसों के लिए है।  दूसरों का धन आप आपने खाते में जमा नहीं कर सकते हैं। संदेह होने पर बेनामी ट्रांजैक्शन कानून के कार्रवाई होगी। दोषी पाए जाने पर जुर्मामा और 7 साल तक की सजा का प्रावधान है। सभी ट्रांजैक्शन पर इनकम टैक्स विभाग की कड़ी नजर रहेगी। जो अपना पैसा दूसरे के खाते में जमा कर रहा है वो दोषी होगी और जो अपना बैंक खाता इस्तेमाल करने दे रहा है, वो भी दोषी होगा।


आयकर विभाग गड़बड़ी करने वालों को छोड़गा नहीं और सहीं तरीकों से पैसा जमा हुआ हो तो उन्हें आयकर विभाग छेड़ेगा नहीं। जिनकी अपनी घरेलू बचत है उन्हें चिंता की जरुरत नहीं है। 2.5 लाख रुपये तक जमा करने पर कोई पूछताछ नहीं होगी। लेकिन अगर 2.5 लाख रुपये से ज्यादा राशि जमा करते है तो आपसे सफाई मांगी जाएगी।