Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः बिना फॉर्म 16, कैसे करें रिटर्न फाइल

प्रकाशित Fri, 06, 2018 पर 09:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा शब्द है जिसे सुनते ही आम आदमी ही नहीं जानकार भी घबराने लगते हैं। कारण है कि आयकर कानूनों में इतने सारे पेंच है कि किसी के लिए भी इन्हें समझना टेढ़ी खीर साबित हो सकती है। इनकम टैक्स भरने का समय करीब आ रहा है जरुरी है कि आप इनसे जुड़े नियमों में बदलाव को जाने और समझें। ऐसे ही मौकों पर टैक्स गुरू अपनी जानकारी और अनुभव का खजाना लेकर आते हैं और करते हैं टैक्स से जुड़ी मुश्किलों को दूर। आज आपके टैक्स से जुड़े मुश्किल सवालों का जवाब देंगे टैक्स एक्सपर्ट हिमांशु कुमार की सलाह।


फॉर्म 16 के बिना आईटीआर कैसे भरा जा सकता है इसपर बात करते हुए हिमांशु कुमार का कहना है कि फॉर्म 16 न होने पर रिटर्न भरना जरुरी है। 2.5 लाख से कम सैलरी होने पर रिटर्न भरने की जरुरत नहीं है। हालांकि फॉर्म 26एएस को जरुर देखना चाहिए। मासिक वेतन या आय को 12 से गुणा कर रिटर्न भरा जा सकता है। फॉर्म 26एएस को जांच ले कि टीडीएस कटा है या नहीं। शेयरों की खरीद- बिक्री, अन्य आय की जानकारी जरुर दें। सभी तरह के निवेश की जानकारी साझा कीजिए। फॉर्म 26एएस के जरिए टैक्स देनदारी में थोड़ी कटौती होगी। इनकम टैक्स की वेबसाइट पर जाकर बाकी बची राशि का भुगतान करें।


सवालः एक किसान हूं और कृषि से आय 1.90 लाख रुपये है। शेयरों और म्यूचुअल फंड से 1.05 लाख लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन हुआ है, ये जानना चाहते हैं कि कौन सा रिटर्न फॉर्म भरें?


हिमांशु कुमार: आईटीआर-2 फॉर्म भरने की जरुरत है। 1.90 लाख रुपये की कृषि से आय पर टैक्स लगेगा। रिटर्न में जानकारी देनी होगी। कैपिटल गेन होने पर आईटीआर 2 फॉर्म भरना होगा। खरीद और बिक्री की कीमत की जानकारी देनी होगी। शेयरों पर 1 लाख रुपये से ज्यादा की कमाई पर 10 फीसदी टैक्स देना होगा।