Moneycontrol » समाचार » अमेरिकी बाजार

एशिया कमजोर, SGX NIFTY सुस्त, US मार्केट से फ्लैट संकेत

SGX NIFTY पूरी तरह सपाट चाल के साथ 12,140.00 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।
अपडेटेड Jan 23, 2020 पर 12:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एशियाई बाजारों में आज कमजोरी देखने को मिल रही है। SGX NIFTY पूरी तरह सपाट चाल के साथ 12,140.00 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं, निक्केई 154 अंक यानी 0.64 फीसदी की गिरावट के साथ 23,877.89 के स्तर पर नजर आ रहा है। स्ट्रेट टाइम्स में 0.09 फीसदी की मामूली बढ़त नजर आ रही है। ताइवान का बाजार आज बंद है। वहीं, हैंगसेंग 1.23 फीसदी की कमजोरी के साथ 27,993.43 के स्तर पर नजर आ रहा है। कोस्पी में भी 0.81 फीसदी की कमजोरी दिख रही है। वहीं, शंघाई कम्पोजिट 0.96 फीसदी की कमजोरी के साथ 3,031.37 के स्तर पर दिख रहा है।


उधर क्रूड की कीमतों में करीब 3 फीसदी की गिरावट नजर आ रही है। ब्रेंट का भाव 63 डॉलर के नीचे फिसल गया है। अगले 6 महीने में सप्लाई बढ़ने की खबरों से क्रूड पर दबाव बढ़ा है। इस बीच OPEC का दायरा बढ़ाने की भी तैयारी है। Brazil जुलाई में OPEC में शामिल हो सकता है। Brazil दक्षिण अमेरिका का सबसे बड़ा उत्पादक है।


वहीं, कल उतार-चढ़ाव वाले सत्र के बाद US मार्केट में फ्लैट क्लोजिंग देखने को मिली। कल के कारोबार में Dow Jones लाल निशान में बंद हुआ था। वहीं, S&P 500 और Nasdaq हरे निशान में बंद होने में कामयाब रहे थे। S&P 500 और Nasdaq कल के कारोबार में रिकॉर्ड ऊंचाई से फिसले थे।


दूसरी तरफ Coronavirus चिंता बढ़ा दी है। चीन में Coronavirus से 17 लोगोँ की मौत की खबरें हैं। चीन के Wuhan में पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद कर दिया गया है। हालांकि ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित करने का फैसला टल गया है।


अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के मुताबिक अगर फेड ने दरों में एक साथ जोरदार उछाल नहीं किया होता तो आज अमेरिकी GDP ग्रोथ दर 4 परसेंट होती और डाओ जोंस 10 हजार अंक ऊपर होता।  US GDP ग्रोथ 2 फीसदी से ज्यादा होती। Boeing & GM हड़ताल का भी GDP पर असर पड़ा है। US Fed का दरें बढ़ाने का फैसला Killer था।


यूरोप पर नजर डालें तो BREXIT बिल को ब्रिटिश संसद की मंजूरी मिल गई है। ब्रिटेन की EU से अलग होने का आखिरी बाधा भी दूर हो गई है। अब महारानी की मंजूरी के बाद ये कानून लागू होगा। ब्रिटेन 31 जनवरी को EC से बाहर निकल जाएगा।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।