Moneycontrol » समाचार » अमेरिकी बाजार

Global market: US मार्केट कमजोर-DOW 450 अंक गिरकर बंद, एशियाई बाजार भी फिसले

मार्च में रिटेल्स सेल्स और मैन्युफैक्चरिंग के खराब आंकड़े से कल अमेरिकी बाजारों पर दबाव दिखा।
अपडेटेड Apr 16, 2020 पर 11:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मार्च में रिटेल्स सेल्स और मैन्युफैक्चरिंग के खराब आंकड़े से कल अमेरिकी बाजारों पर दबाव दिखा। कल के कारोबार में Dow करीब 450 अंक गिरकर बंद हुआ था। US मार्केट में  कल 2 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई थी। S&P 500 और Nasdaq भी 2 फीसदी  तक फिसले थे। क्रूड में गिरावट से एनर्जी शेयरों पर  दबाव बढ़ा है। 1992 के बाद मार्च रिटेल्स सेल्स में सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली है। मार्च में रिटेल सेल्स में 8 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है। अमेरिका में बेरोजगारी के आकंड़े आज आएंगे। यहां जॉबलेस क्लेम बढ़ने की आशंका है।


उधर कल 6 फीसदी से ज्यादा की गिरावट के बाद आज क्रूड कीमतों में थोड़ी रिकवरी नजर आ रही है। कोरोना के चलते डिमांड घटने की आशंका से ब्रेंट 28 डॉलर के करीब आ गया है। INTERNATIONAL ENERGY AGENCY के मुताबिक अप्रैल में मांग रोजाना करीब 3 करोड़ बैरल घट सकती है।


इस बीच दुनिया भर में कोरोना पॉजिटिव संख्या 20.8 लाख के पार चली गई है। इससे दुनिया में 1.33 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में 6.43 लाख से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव हैं। अमेरिका में इससे अब तक 32300  से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में 1 मई से इकोनॉमी खोलने के संकेत हैं। US में बड़ी भीड़ जुटने पर पाबंदी की आशंका भी बढ़ी है। उधर EU भी धीरे-धीरे लॉकडाउन खोलने के पक्ष में है। EU का कहना है कि सभी लोग एक साथ काम पर ना लौटें।



एशियाई बाजारों में आज कमजोरी देखने को मिल रही है। SGX NIFTY 55 अंक यानी  0.62 फीसदी नीचे दिख रहा है। वहीं, निक्केई करीब 1 फीसदी कमजोरी के साथ 19,310.94 के आसपास दिख रहा है। हालांकि स्ट्रेट टाइम्स में 0.04 फीसदी की मामूली बढ़त नजर आ रही है। ताइवान का बाजार 0.71 फीसदी की गिरावट के साथ 10,372.81 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। जबकि हैंगसेंग 0.47 फीसदी की कमजोरी के साथ 24,031.31 के स्तर पर नजर आ रहा है। वहीं, कोस्पी में 0.29 फीसदी की कमजोरी दिख रही है। शंघाई कम्पोजिट भी 0.07 फीसदी की गिरावट के साथ 2,809.12 के स्तर पर दिख रहा है।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।