Moneycontrol » समाचार » अमेरिकी बाजार

Global market:जोश में US मार्केट-लगातार तीसरे दिन चढ़ा Dow,एशियाई बाजारों में भी मजबूती

अनुमान से अधिक जॉबलेस क्लेम के बावजूद कल अमेरिकी बाजार जोश में दिखे।
अपडेटेड Mar 27, 2020 पर 12:05  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अनुमान से अधिक जॉबलेस क्लेम के बावजूद कल  अमेरिकी बाजार जोश में दिखे।  2 लाख करोड़ डॉलर का राहत पैकेज पास होने से Dow 1350 अंक चढ़ा। डॉओ में तीन दिनों में 20 फीसदी से ज्यादा का उछाल आया है। एशियाई बाजारों में भी मजबूती देख रही है।



G20 कोरोना के खिलाफ जंग में 5 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर का योगदान देगा। G20 बैठक में PM मोदी ने कहा कि मानवता को बचाने के लिए सबको एकजुट होना ही होगा। कोरोना संकट की वजह से हजारों अमूल्य जानें गईं हैं। दुनिया की वित्तीय स्थिरता और ग्रोथ में G20 की अहम भूमिका है। 2008 के संकट से उबरने में भी G20 का अहम रोल था। विश्व के GDP में G20 देशों की 80 फीसदी हिस्सेदारी है। विश्व की जनसंख्या में G20 देशों का 60 फीसदी हिस्सा है। G20 देशों ने ग्लोबल इकोनॉमी में  $5 Lk Cr पूंजी डालने का एलान किया है।


इस बीच अमेरिका में कोरोना का संकट और गहरा गया है।  US में 84 हजार कोरोना केस दर्ज हुए हैं। कल 16 हजार नए मामले सामने आए। यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या चीन और इटली से अधिक हो गई है। दुनियाभर में मरीजों की संख्या सवा 5 लाख पहुंच गई है।  इटली में 7000 से ज्यादा मौतें हुई हैं। इटली में लगातार चौथे दिन नए मामलों में कमी देखने को मिली है।


वहीं देश में कोरोना के मामले 725 हो गए हैं। अब तक 16 की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र, केरल में 100 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन की मियाद 14 अप्रैल तक बढ़ गई है। लेकिन जरूरी सामानों की होम डिलिवरी होगी। कोरोना मरीज राजस्थान के भीलवाड़ा में तेजी से बढ़े हैं।



कल के कारोबार में अमेरिकी बाजारों में लगातार तीसरे दिन मजबूती  देखने को मिली Dow में तीन दिनों में 20 फीसदी से  ज्यादा का उछाल आया है। Dow में 90 साल में 3 दिनों की सबसे बड़ी तेजी आई है। अनुमान से ज्यादा जॉबलेस क्लेम के बावजूद ये तेजी आई है। कोरोना संकट के कारण US में  बेरोज़गारी बढ़ी है। पिछले हफ्ते 30.2 लाख लोगों ने बेरोजगार भत्ता मांगा। जॉब लेस क्लेम के आंकड़े रिकॉर्ड स्तरों पर रहा है। जॉबलेस क्लेम के आकंड़े अनुमान से अधिक रहे हैं। कोरोना के कारण रेस्तरां, बार, सिनेमा बंद हैं। ऑटो कंपनियों का उत्पादन ठप है, हवाई सेवा सीमित है।






सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।