Moneycontrol » समाचार » अमेरिकी बाजार

ब्याज दरें घटाने के फैसले से US मार्केट खुश नहीं, एशियाई बाजार मिलेजुले

अमेरिकी बाजार दरें घटाने के फैसले से खुश नहीं हुए। कल के कारोबार में अमेरिकी बाजार मिलेजुले हुए बंद हुए।
अपडेटेड Sep 19, 2019 पर 10:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अमेरिकी ब्याज दरें घटाने के फैसले से खुश नहीं हुए। कल के कारोबार में अमेरिकी बाजार मिलेजुले हुए बंद हुए। लेकिन आज एशिया में मिलाजुला कारोबार देखने को मिल रहा है। निक्केई 1 फीसदी ऊपर नजर आ रहा है। लेकिन SGX NIFTY में हल्की कमजोरी देखने को मिल रही है। वहीं स्ट्रेट्स टाइम में 0.11 फीसदी की बढ़त पर कारोबार हो रहा है। हैंगसेंग भी करीब 1 फीसदी की कमजोरी दिखा रहा है। जबकि कोस्पी और शंघाई कम्पोजिट हरे निशान में दिख रहे हैं।


अमेरिका की बात करें तो Fed ने ब्याज दरें 0.25 फीसदी घटाते हुए ब्याज दरें 1.75-2 फीसदी की रेंज में रखने का फैसला लिया है। 2019 में Fed ने दूसरी बार दरें घटाईं हैं। दरों में कटौती का फैसला 7-3 वोट से हुआ है। तीन सदस्य दरें घटाने के पक्ष में नहीं थे। हालांकि इस साल दरें और घटाने को लेकर साफ संकेत नहीं हैं। आगे दरें घटाने को लेकर Fed के सदस्य एकमत नहीं हैं। कुछ सदस्य दरों में एक बार और कटौती के पक्ष में हैं। वहीं, रिजर्व पर दिए जाने वाले ब्याज में 0.3 फीसदी की कटौती की गई है।


JEROME POWELL ने कहा है कि इकोनॉमिक ग्रोथ बढ़ाने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे। जॉब मार्केट में आगे मजबूती आने की संभावना है। ट्रंप की आलोचना के बावजूद हमारा हौसला बरकरार है। इकोनॉमी में तेजी आने की उम्मीद है।


उधर ईरान पर आर्थिक सख्ती बढ़ाने के ट्रंप के आदेश से क्रूड कीमतों पर दबाव देखने को मिल रहा है। कल ब्रेंट क्रूड 63 डॉलर के नीचे फिसला था हालांकि आज इसकी कीमतों में हल्की रिकवरी दिख रही है।


इस बीच ईरान-सऊदी में तनाव बढ़ता नजर आ रहा है। सऊदी अरब की तरफ से कहा गया है कि हमले में ईरान के शामिल होने के सुबूत हैं। सऊदी ने ड्रोन और क्रूज़ मिसाइलों का मलबा दिखाया है। उधर ट्रेड डील को लेकर ट्रंप ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा है कि चीन चुनाव तक ट्रेड डील का इंतजार ना करे। चुनाव के बाद डील हुई तो ज्यादा सख्ती होगी।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।