Beijing Olympics: अमेरिका ने बीजिंग में होने वाले विंटर ओलंपिक का किया राजनयिक बहिष्कार का ऐलान, चीन ने भी दी धमकी

Beijing Olympics: अमेरिका ने बीजिंग में होने वाले विंटर ओलंपिक का किया राजनयिक बहिष्कार का ऐलान, चीन ने भी दी धमकी

चीन ने कहा है कि इससे खेलों की कामयाबी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा

अपडेटेड Dec 07, 2021 पर 10:28 AM | स्रोत : Moneycontrol.comअमेरिका और चीन में फिर तकरार

अमेरिका (United States) ने अगले साल चीन की राजधानी बीजिंग में होने वाले विंटर ओलंपिक (Beijing Winter Olympicssd) का राजनयिक बहिष्कार करने का ऐलान किया है। अमेरिका के राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस ने कहा कि चीन में हो रहे मानवाधिकार के उल्लंघन की चिंताओं के कारण खेलों में अमेरिका की ओर से कोई आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल शामिल नहीं होगा।

राकेश झुनझुनवाला के पसंदीदा Metro Brands आईपीओ का प्राइस बैंड होगा 485-500 रुपये

अमेरिका ने सोमवार को एक बयान में बताया कि यह बीजिंग में होने वाले विंटर ओलिंपिक्स 2022 में सरकारी अधिकारियों को नहीं भेजेगा। हालांकि अभी यह साफ किया गया कि अमेरिकी एथलीट विंटर ओलंपिक में भाग ले सकते हैं और उन्हें सरकार का पूरा समर्थन मिलेगा।

चीन ने दी धमकी

अमेरिका के इस फैसले पर चीन ने आपत्ति जताते हुए धमकी दी है कि यदि वाशिंगटन फरवरी में होने वाले विंटर ओलंपिक खेलों का राजनयिक बहिष्कार करता है तो बीजिंग भी इसपर ठोस जवाबी कार्रवाई करेगा। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा कि अगर अमेरिका ऐसा करता है तो यह राजनीतिक तौर पर भड़काने वाली कार्रवाई होगी।

उन्होंने इसका खुलासा नहीं किया कि चीन किस तरह से जवाबी कार्रवाई करेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि वह इस तरह के बहिष्कार पर विचार कर रहे हैं जिसके तहत अमेरिकी खिलाड़ी खेलों में भाग लेंगे। इस बारे में घोषणा इस सप्ताह की जाएगी।

समर्थकों ने फैसले को सहीं ठहराया

इस कदम के समर्थकों का कहना है कि चीन के खराब मानवाधिकार रिकॉर्ड को देखते हुए यह सही फैसला है। उनका कहना है कि चीन इन खेलों का प्रयोग मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, राजनीतिक विरोधियों और मूल अल्पसंख्यकों के साथ खराब बर्ताव को ढकने के लिए कर रहा है।

झाओ ने प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि बिन बुलाए अमेरिकी राजनेता बीजिंग विंटर ओलंपिक के तथाकथित राजनीतिक बहिष्कार की बात कर रहे हैं। यदि अमेरिका ऐसा करता है तो हम भी ठोस जवाबी कार्रवाई करेंगे। वहीं, बीबीसी के मुताबिक वाशिंगटन में चीनी दूतावास ने इस बहिष्कार को एक दिखावा करार दिया है।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Dec 07, 2021 10:28 AM