Moneycontrol » समाचार » आपका पैसा

अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए लोन लेने से बचें

आपकी इच्छाएं आपके फाइनेंस पर अधिक दबाव डालती है
अपडेटेड Feb 29, 2020 पर 15:39  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अपने पुराने दिनों को याद कीजिए, जब लोगों के पास इच्छाएं, वित्तीय लक्ष्य बहुत कम होते थे। इनमें केवल अपने बच्चों की शिक्षा, सेविंग, एक दिन घर खरीदना है। इसके बाद एक दिन रिटायर हो जाना है।


लेकिन जैसे-जैसे लोगों की कमाई बढ़ी तो अनेक इच्छाएं भी उत्पन्न होने लगीं। उनकी लाइफ स्टाइल में बदलाव आ गया। उदारीकरण के बाद लोगों की इच्छाएं बढ़ गईं। लोगों के अंदर अपने फाइनेंशियल गोल को चुनने के लिए इच्छाएं उत्पन्न होने लगीं। लोगों को आसानी से लोन मिलने लगा।  इंटरनेट और सहकर्मी समूहों के बढ़ते प्रभाव से इच्छाओं को ईँधन मिलना शुरू हो गया।


नई पीढ़ी के लक्ष्य


नई पीढ़ी ने अपनी जीवनशैली को कुछ अलग जीना शुरू कर दिया है। अब नई पीढ़ी के लोग अपनी बचत नहीं करते हैं। वो अपने बच्चों की शिक्षा, घर खरीदने और सेवानिवृत्त के लिए कोई सेविंग नहीं करते हैं। यह अब केवल आवश्यकताओं के बारे में नहीं रह गया है। अब नई पीढ़ी के लोगों में नई करा खरीदना, समय-समय पर विदेशी छुट्टियां जैसी चीजें जीवन का हिस्सा बन गए हैं।


यह सब तो ठीक है। कौन नहीं चाहेगा ऐसा बेहतर जीवन? लेकिन इन सब चीजों को पूरा करने के लिए पैसों की जरूरत होती है। ये सब चीजें फ्री में तो मिलती नहीं है। इसे हम भली भांति जानते हैं।


इसलिए लोग अगर अपनी योजना ठंग से नहीं बनाते हैं तो वो अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए बेताब हो जाते हैं। और फिर कोई शॉर्ट रास्ता निकालना शुरू कर देते हैं। जिसमें लोन लेना शामिल है। जो कि यह रास्ता बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है।
यहां पर यह कहने का मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि आपको अपनी लाइफ स्टाइल बेहतर नहीं करना चाहिए और अपने अंदर की इच्छाओं को मार देना चाहिए। बस इन इच्छाओं की पूर्ति करने के लिए कुछ कीमत चुकानी पड़ती है। लिहाजा हमें इच्छाओं के अनुसार प्राथमिकता और योजना बनाने की जरूरत है।


फाइनेंस पर प्रभाव


इच्छाएं आपके फाइनेंस पर दबाव डालती हैं। और यह वही है जो लोगों को महसूस करने की जरूरत है।


इच्छापूर्वक लक्ष्य ठीक है, लेकिन उनको पूरा करने के लिए पैसे लगते हैं। और आपके पास उन इच्छाओं को पूरा करने के लिए पैसों का सामर्थ्य होना चाहिए। लेकिन अगर आप अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए लोन का सहारा लेते हैं। तो फिर आपको अंतत: समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।


नए लक्ष्य और बढ़ती लाइफ स्टाइल महंगाई अब एक नॉर्मल चीज हो गई है। लेकिन क्या हम इस चीज को बरकरार रख सकते हैं। अलग अलग लोगों के लिए इसका जवाब अलग हो सकता है। कुछ लोग हैं इन इच्छाओं को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करने और अधिक कमाई करने के लिए तैयार होंगे। कुछ लोगों के लिए यह सब बस की बात नहीं होगी।


सबसे पहले अपनी बेसिक लक्ष्य को पूरा करने के लिए पैसे बचाना जरूरी है। अगर आपके पास कुछ पैसे बच रहे हैं तो आप इच्छाओं पर खर्च कर सकते हैं। आपको उच्च निवेश के लिए बचा कर रखना होगा। आपको भविष्य के लिए पैसों की बचत करके रखना होगा। आज कल के लोग रिटायरमेंट प्लानिंग को खास तरजीह नहीं देते हैं। ज्यादातर लोगों को लगता है कि उन्हें रिटायरमेंट के बाद क्या चाहिए। यह किसी को भी नहीं भूलना चाहिए कि अन्य सभी चीजों के विपरीत आपको रिटायरमेंट के लिए कोई लोन नहीं मिलेगा।


कुल मिलाकर आपको अपने नए लक्ष्य नई इच्छाओं को पूरा करने के लिए बेहतर योजना की जरूरत है। अगर आप सही योजना से काम नही करते है तो लोन के जाल में फंस सकते हैं। अगर आपको यह पता लगाने में कठिनाई हो रही है कि अपनी इच्छाओं से समझौता किए बिना हम अपने मूल लक्ष्य को कैसे हासिल करें तो फिर शायद आपको एक बेहतर सलाहकार से बात करने का समय आ गया है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।