Moneycontrol » समाचार » आपका पैसा

EPF withdrawal: जानिए कैसे निकाले ऑनलाइन PF का पैसा

EPFO portal पर UAN नंबर के जरिए आप पैसे निकालने के लिए क्लेम कर सकते हैं। इसके लिए आपका UAN नंबर एक्टिव होना जरूरी है
अपडेटेड Jun 22, 2020 पर 15:30  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees Provident Fund Organisation-EPFO) में अब आप समय से पहले अपनी जरूरत के मुताबिक पैसे निकाल सकते हैं। हालांकि इसके लिए एक रेशियो (अनुपात) तय किया गया है। आपको रिटायरमेंट से पहले पैसे निकालने की अनुमति दी गई है।


अब कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते आपकी वित्तयी स्थिति खराब हो गई है तो भी आप पैसे निकाल सकते हैं। इसके अलावा मकान बनाने, बच्चों की पढ़ाई, शादी विवाह के लिए भी PF का पैसा निकाल सकते हैं। यहां तक कि अगर नौकरी भी छूट जाए तो भी आप पैसे निकाल सकते हैं।


PF का पैसा निकालने के निकालने के नियम


बेरोजगारी : EPF के नए नियमों के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति नौकरी छोड़ने या छूटने के बाद एक महीने से ज्यादा समय तक बेरोजगार रहता है तो वह अपने ईपीएफ से अधिकतम 75 फीसदी रकम निकाल सकता है। 2 महीना से ज्यादा बेरोजगार होने पर बची हुई 25 फीसदी रकम निकाल सकता है।


रिटायरमेंट:  कर्मचारी की उम्र 54 साल पूरी करने के बाद या रिटायरमेंट के एक साल पहले अपने PF का पैसा 90 फीसदी निकाल सकता है।


बच्चों की शिक्षा, शादी विवाह : बच्चों की शादी विवाह या उनकी पढ़ाई के लिए ब्याज के साथ अपने हिस्से का 50 फीसदी पैसा निकाल सकते हैं। इसके लिए शर्त ये है कि कर्मचारी ने EPFO  की सदस्यता 7 साल पूरी कर ली हो।


दिव्यांग (Handicapped): दिव्यांग लोगों को PF का पैसा निकालने की मंजरूरी दी गई है। ताकि वो उपकरण खरीद सकें।


इलाज: कोई भी कर्मचारी अपने परिवार में किसी के इलाज के लिए 6 महीने की बेसिक सैलरी और डीए निकाल सकता है। या जिनता भी उसका योगदान है उतना निकाल सकता है। इसके लिए उसे अपनी कंपनी और डॉक्टर के हस्ताक्षर किया हुआ एक सार्टिफिकेट जमा करना होगा।


घर खरीदना: कर्मचारी घर खरीदने या घर बनाने के लिए प्‍लाट खरीदने के लिए अपने PF फंड से रकम निकाल सकते हैं। इसके अलावा वह PF के मंथली कंट्रीब्‍यूशन का इस्तेमाल होम लोन की EMI चुकाने के लिए भी कर सकते हैं। इसके लिए उसको 10 साल मेंबरशिप पूरी करनी होगी।


जानिए ऑनलाइन कैसे निकालें रकम


आपको EPFO की वेबसाइट https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ में जाना होगा। इसके बाद आपको अपना Universal Account Number (UAN) नंबर और पासवर्ड डालकर लॉंगिन करना होगा। अगर आप पासवर्ड भूल गए हों तो फिर से इसे जेनरेट किया जा सकता है। इसके लिए आपके UAN अकाउंट में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP आने के बाद दोबारा बन जाएगा।



-अब आपको KYC की सारी डिटेल चेक कर लें। यहां आपको देखना है कि आपका UAN नंबर आधार कार्ड से जुड़ा है या नहीं। इसमें आधार कार्ड, पैन कार्ड और बैंक की पूरी जानकारी चेक करें।



- UAN के डैश बोर्ड पर क्लिक करना होगा। इसमें आपको Online services का ऑप्शन दिखेगा। इसमें क्लिक करने के बाद एक ड्रॉप मेन्यु खुलेगा। इसमें क्लेम (Claim) का ऑप्शन दिखएगा। इस पर क्लिक करें। अपने क्लेम फॉर्म को सब्मिट करने के लिए Proceed For Online Claim पर क्लिक करना होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।