Moneycontrol » समाचार » आपका पैसा

जानिए PPF में निवेश करने पर कैसे मिलेगा बेहतर रिटर्न

PPF के निवेशकों को कुछ बातों का खासतौर से ध्यान देना चाहिए, ताकि उन्हें ब्याज का पूरा फायदा मिल सके
अपडेटेड Jul 11, 2020 पर 16:38  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फिस्कल ईयर की दूसरी तिमाही (July-September Quarter) के लिए छोटी बचत योजनाओं (Small Saving Schemes) पर ब्याज दरों (Interest Rates) में बदलाव नहीं किया गया है। पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund- PPF) में मौजूदा समय में 7.1 फीसदी ब्याज मिल रही है। लॉन्ग टर्म (Long Term) के लिए एक बेहतर निवेश (Investment) करने का बेहतर विकल्प है। इसमें निवेश न केवल सुरक्षित है, बल्कि इसमें टैक्स छूट में कई तरह के फायदे मिलते हैं और कोई जोखिम नहीं होता है।


अब अगर आप इसमें शानदार रिटर्न हासिल करना चाहते हैं तो आपको नियमों को जानना होगा। ताकि आपके निवेश की पूरी रकम का सही से इस्तेमाल हो सके और आप बेहतर रिटर्न हासिल कर सकें।


PPF में सालाना ब्याज मिलती है, लेकिन ब्याज का कैलकुलेशन हर महीने किया जाता है। यह ब्याज हर महीने की 5 तारीख और अंतिम तारीख के बीच मौजूद मिनिमम बैलेंस पर दिया जाता है। ऐसे में जब आप महीने में निवेश करते हैं तो 5 तारीख के पहले अकाउंट में पैसे डाल दें। ताकि ब्याज की गणना करते समय आपको इसका फायदा मिल सके। अगर आप 5 तारीख के बाद पैसे डालते हैं तो एक महीने तक उसमें कोई ब्याज नहीं मिलनी है। इसलिए अगर आप चेक से निवेश कर रहे हैं तो 5 तारीख से 3-4 दिन पहले चेक जमा कर दीजिए, ताकि आपकी निवेश की गई रकम 5 तारीख के पहले पहुंच जाए। अगर आपकी निवेश की गई रकम 5 तारीख के बाद क्रेडिट होती है, तो उसमें कोई ब्याज नहीं मिलेगा।


PPF में contribution पर धारा 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक की राशि पर इनकम टैक्स में छूट मिलती है। इस पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स नहीं लगता है, लेकिन टैक्स रिटर्न फाइल करते समय इसकी जानकारी देना जरूरी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।