Char Dham: श्रद्धालुओं को केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के चौखट तक पहुंचाएगी भारतीय रेल

चार धाम यानी यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ से नई बीजी रेल कनेक्टिविटी के लिए सर्वेक्षण का काम जल्द ही पूरा होने वाला है
अपडेटेड May 28, 2021 पर 12:40  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Char Dham:  केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को चार धाम परियोजनाओं के लिए आखिरी छोर तक कनेक्टिविटी योजनाओं का सर्वेक्षण किया। चार धाम यानी यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ से नई बीजी रेल कनेक्टिविटी के लिए अंतिम सर्वेक्षण पूरा होने के करीब है। 


रेलवे के अधिकारियों ने प्रोजेक्ट की समीक्षा मीटिंग में यह जानकारी केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल को दी। बता दें कि रेल मंत्री ने इस प्रोजेक्ट की घोषणा पिछले साल अगस्त में की थी।


इस मीटिंग के दौरान रेल मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को यात्रियों की सुरक्षा और आराम के लिहाज से सभी विकल्पों की विस्तार से समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि आखिरी छोर तक कनेक्टिविटी के सभी विकल्पों के साथ-साथ प्रोजेक्ट के पूरा होने तक पूरी लागत प्रभाव (cost implications) की जांच की जाए। गोयल ने कहा कि चार धाम यात्रा के लिए तीर्थ यात्रियों को जल्दी, सुरक्षित, और आरामदायक कनेक्टिविटी मिलनी चाहिए।


रेल मंत्रालय के अनुसार, केदारनाथ और बद्रीनाथ रेल कनेक्टिविटी कर्णप्रयाग स्टेशन से शुरू होगा जो 125 किमी लंबी ऋषिकेश-कर्णप्रयां नई BG रेल लाइन प्रोजेक्ट का हिस्सा है। वहीं दूसरी ओर गंगोत्री और यमुनोत्री रेल कनेक्टिविटी मौजूदा डोईवाला (Doiwala) स्टेशन से शुरू होगा।


रेलवे के मुताबिक, चार धाम यात्रा के लिए फिलहाल Reconnaissance Engineering Survey(RES) सर्वे चल रहा है, जिसमें श्रद्धालुओं को धामों तक सुरक्षित, आरामदायक तरीके से और समय पर पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। 


बता दें कि भारतीय रेलवे 327 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन के जरिए उत्तराखंड में चार धाम स्थलों को जोड़ने के लिए एक बहुप्रतीक्षित प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है। इससे श्रद्धालुओं के लिए चार धाम यात्रा और आसान हो जाएगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।