Mann ki Baat 30 May: तूफान हो या कोरोना देश मजबूती से लड़ रहा है - पीएम मोदी

Mann ki Baat 30 May 2021: पीएम मोदी ने कहा कि आज सरकार ने 7 साल पूरे कर लिए हैं। इस दौरान हमने कई बड़े काम किए जो दशकों से नहीं हुए
अपडेटेड May 31, 2021 पर 09:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Mann ki Baat 30 May 2021: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आज रविवार को मन की बात का4यक्रम के जरिए देश वासियों को संबोधित कर रहे हैं। पीएम मोदी हर महीने के आखिरी रविवार को मन की बात करते हैं। यह उनका 77वां संबोधन है। 


इन प्लेटफॉर्म पर सुन सकते हैं मन की बात


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह कार्यक्रम आकाशवाणी और दूरदर्शन के समूचे नेटवर्क तथा आकाशवाणी समाचार वेब साइट के साथ एप पर भी प्रसारित किया जाएगा। आकाशवाणी पर हिंदी प्रसारण के तुरंत बाद इसे क्षेत्रीय भाषाओं में भी प्रसारित किया जाएगा। क्षेत्रीय भाषा के संस्करणों को शाम 8 बजे रिपीट किया जाएगा।


11:40AM


पीएम मोदी ने आगे कहा कि इन सात सालों में हमने साथ मिलकर ही कई कठिन परीक्षाएं भी दी हैं और हर बार हम सभी मजबूत होकर निकले हैं। कोरोना महामारी के रूप में, इतनी बड़ी परीक्षा तो लगातार चल रही है। इस वैश्विक महामारी के बीच भारत, सेवा और सहयोग के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है।


पीएम मोदी ने कहा कि वेव में भी हौसले के साथ लड़ाई लड़ी थी। इस बार भी वायरस के खिलाफ चल रही लड़ाई में भारत विजयी होगा। दो गज की दूरी, मास्क से जुड़े नियम हों या फिर वैक्सीन, हमें ढिलाई नहीं करनी है। यही हमारी जीत का रास्ता है।


11:30AM


प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि आजादी के बाद सात दशकों में हमारे देश के केवल साढ़े तीन करोड़ ग्रामीण घरों में ही पानी के कनेक्शन थे। लेकिन पिछले 21 महीनों में ही साढ़े चार करोड़ घरों को साफ पानी कनेक्शन दिए गए हैं। इनमें से 15 महीने तो कोराना काल के ही थे। आयुष्मान योजना के जरिए लोगों का इलाज किया जा रहा है। इन 7 सालों में डिजिटल ट्रांजैक्शन का इजाफा हुआ है। आज किसी भी जगह आसानी से डिजिटन पेमेंट कर दिया जाता है।


11:25AM


सरकार ने पूरे किए 7 साल


पीएम मोदी ने कहा कि आज 30 मई को हम मन की बात कर रहे हैं। संयोग से आज सरकार के आज 7 साल पूरे होने का समय है। इन सालों में देश सबका-साथ, सबका-विकास, सबका-विश्वास के मंत्र पर चला है। देश की सेवा हर क्षण हम सभी ने समर्पित भाव से काम किया है। इन 7 सालों में हमने मिलकर कई कठिन परीक्षाएं भी दी हैं। हर बार हम सभी पहले से ज्यादा मजबूत होकर निकले हैं। कोरोना महामारी के रूप में इतनी बड़ी परीक्षा तो लगातार चल रही है। बड़े-बड़े देश भी इसकी तबाही से बच नहीं सके। मुझे कितने ही लोग देश को धन्यवाद देते हैं कि 70 साल बाद उनके गांव में पहली बार बिजली पहुंची है। कितने ही लोग कहते हैं कि हमारा भी गाँव अब पक्की सड़क से, शहर से जुड़ गया है।


उन्होंने कहा कि भारत अब साजिश का मुंहतोड़ जवाब देता है। पीएम मोदी ने कहा कि कई ऐसे काम हुए हैं जिससे करोड़ों लोगों को खुशी हुई है। मैं इन करोड़ों लोगों की खुशियों में शामिल रहा हूं। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर से लेकर कश्मीर तक कई मसले शांति से सुलझा लिए गए हैं। अब यहां विकास की नई धारा बह रही है। जो काम कई दशकों से नहीं हो पाए उसे हमने 7 साल में कर दिया है।


11:20AM


टेस्टिंग लैब बढ़े


पीएम मोदी ने कहा कि शुरुआत में देश में केवल एक ही टेस्टिंग लैब थी, लेकिन आज 2,500 से ज्यादा लैब काम कर रही हैं। अब 20 लाख से ज्यादा एक दिन में टेस्ट होने लगे हैं। अब तक देश में 33 करोड़ से ज्याजा सैंपल की जांच की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि कितने ही फंटलाइन वर्कर्स सैंपल कलेक्ट करने में लगे हुए हैं। उनका सैंपल लेना सेवा का काम है। इनको अपने बचाव के लिए गर्मी में PPE किट पहनकर रहना पड़ता है। हमें इन साथियों की भी चर्चा करना जरूरी है।


उन्होंने कहा कि हमारे देश में इतना बड़ा संकट आया। इससे देश की हर व्यवस्था पर असर पड़ा है। कृषि व्यवस्था ने खुद को इस हमले से काफी सुरक्षित रखा है। सुरक्षित ही नहीं रखा बल्कि प्रगति की है और आगे भी बढ़ी है।


11:15 AM


उन लोगों के प्रति संवेदना, जिन्होंने अपनों को खोया


प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि केंद्र, राज्य सरकारें और स्थानीय प्रशासन सभी एक साथ मिलकर इस आपदा के सामने करने में जुटे हैं। मैं उन सभी लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं, जिन्होंने अपने करीबियों को खोया है। उन्होंने कहा कि चुनौती के इस समय में ऑक्सीजन के परिवहन को आसान करने के लिए भारतीय रेल आगे आई। ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने सड़क पर चलने वाले ऑक्सीजन टैंकर से कहीं ज़्यादा तेज़ी से, कहीं ज़्यादा मात्रा में ऑक्सीजन देश के कोने-कोने में पहुंचाया


11:10AM


ऑक्सीजन संकट का किया जिक्र


पीएम मोदी ने कहा, कई लोग ऐसे भी हैं, जिनकी कोरोना की सेकेंड वेव से लड़ने में बहुत बड़ी भूमिका रही है। साथियों, जब सेकेंड वेव आई, अचानक से ऑक्सिजन की मांग कई गुना बढ़ गई तो बहुत बड़ा चैलेंज था। मेडिकल ऑक्सिजन को देश के दूर-सुदूर हिस्सों तक पहुंचाना अपने आप में बड़ी चुनौती थी। ऑक्सिजन टैंकर ज़्यादा तेज़ चले। छोटी-सी भी भूल हो, तो उसमें बहुत बड़े विस्फोट का खतरा होता है। इसके बाद प्रधानमंत्री ने उत्‍तर प्रदेश में ऑक्सिजन टैंकर के ड्राइवर दिनेश बाबूलनाथ उपाध्याय का अनुभव साझा क‍िया। मोदी ने दिनेश से बात करके जाना कि क्‍या चुनौतियां आती हैं और वे उनसे कैसे निपटते हैं।


दिनेश ने बताया कि हमको बहुत तसल्ली आती है हमारे जीवन में कि हमने कोई अच्छा काम ज़रुर किया है जो मुझे ऐसा सेवा करने का अवसर मिला है। चाहे खाना मिले-चाहे न मिले, कुछ भी दिक्कत हो लेकिन हम हॉस्पिटल पहुँचते हैं जब टैंकर लेके और देखते हैं कि हॉस्पिटल वाले हम लोगों को Vका इशारा करते हैं, उनके family लोग जिसके घरवाले admit होते हैं।


11:05AM


पीएम मोदी ने मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 10 दिनों में देश ने फिर से 2 बड़े साइक्लोन का सामना किया है। इन दोनों साइक्लोन से देश के कई राज्य प्रभावित हुए हैं। देश और देश की जनता से इसे पूरी ताकत से लड़ी और इसका सामना किया। पहले के मुकाबले अब हम ज्यादा जान बचा पा रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि देश पूरी ताकत के साथ COVID19 से लड़ रहा है, पिछले 100 सालों में ये सबसे बड़ी महामारी है। इसी महामारी के बीच भारत ने अनेक प्राकृतिक आपदाओं का भी डटकर मुकाबला किया है। इस दौरान चक्रवात अम्फान, निसर्ग, अनेक राज्यों में बाढ़ आई, अनेक भूकंप आए, भूस्खलन हुए है।   


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।