PMC बैंक के डिपॉजिटर्स की मांग, निजी या सरकारी बैंक में करें विलय, हाईकोर्ट जाने की तैयारी

PMC के डिपॉजिटर्स का कहना है कि RBI की तरफ से रिफंड देने के लिए कोई समय सीमा स्पष्ट नहीं किया गया है
अपडेटेड Jun 21, 2021 पर 08:24  |  स्रोत : Moneycontrol.com

PMC Bank: संकट से जूझ रहे मुंबई स्थिति पंजाब और महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (Punjab and Maharashtra Co-operative Bank -PMC) के डिपोजिटर्स की योजना बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने की है।


डिपोजिटर्स की मांग है कि इस समस्या को जल्द ही सॉल्व किया जाए और डिपोजिटर्स की जमा राशि को जल्द ही लौटाया जाए। डिपॉजिर्स (Depositors) की मांग है कि उनकी जमा राशि की वापसी पर रेगुलेटर या बैंक की तरफ से कोई साफ समय सीमा योजना का ऐलान नहीं किया गया है।


इसके अलावा डिपोजिटर्स PMC बैंक को किसी दूसरे चालू सरकारी या प्राइवेट बैंक के साथ विलय की मांग है। इनका कहना है कि इससे उनकी समस्या का जल्द समाधान होगा। PMC Bank के डिपॉजिटर्स एक्शन टीम के कोर्डिनेटर मंजीत सभरवाल (Manjeet Sabharwal) ने मनीकंट्रोल से बातचीत करते हुए कहा कि PMC बैंक के डिपॉजिटर्स RBI और PMC बैंक के बोर्ड के खिलाफ अपील की तैयारी में हैं।


PMC Bank मामले का होगा रिजॉल्यूशन RBI से सेंट्रम को स्मॉल फाइनेंस बैंक खोलने का अप्रूवल


उन्होंने कहा कि हम अगले कुछ दिनों में बॉम्बे हाईकोर्ट में अपनी अपील दाखिल कर सकते हैं। इसके लिए वकीलों के सहयोग से पिटिशन (petition) की तैयारी की जा रही है। मंजीत ने कहा कि हम डिपॉजिट रिफंड के लिए 4 -6 महीने और इंतजार करने की स्थिति में नहीं हैं। इस संकट को शुरू हुए 20 महीना हो चुका है। अब हम और कितना इंतजार कर सकते हैं।


PMC Bank के जमाकर्ताओं को पैसे वापस मिलने में होगी और देरी, RBI ने 30 जून तक बढ़ाया प्रतिबंध


बता दें कि 18 जून को RBI ने सेंट्रम फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (Centrum Financial Services Limited) को एक स्माल फाइनेंस बैक (Small Finance bank -SFB) बनाने की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। इससे PMC बैंक के टेकओवर का रास्त साफ हो गया है।


PMC Bank Scam: दबंग नेता हितेंद्र ठाकूर को झटका, Viva Group की 34 करोड़ की संपत्ति जब्त


पता चला है कि PMC बैंक के डिपॉजिटर्स को पीएमसी बैंक के संभावित अधिग्रहण करने वाले सेंट्रम फाइनेंशियल रास नहीं आ रहा है। उनका कहना है कि PMC बैंक का अधिग्रहण किसी चालू प्राइवेट या सरकारी बैंक द्वारा किया जाना चाहिए। इससे हमारी समस्या का जल्द ही समाधान हो सकता है।
 
सभरवाल ने कहा कि PMC बैंक क्राइसेस के चलते अब तक 150 से अधिक लोग अपनी जान गवां चुके हैं। इन लोगों ने PMC बैंक में अपनी जीवन भर की पूंजी लगा रखी थी। 


PMC बैंक के लिए अब तक तीन बोलियां आईं, मूल्यांकन जारी: RBI गवर्नर


दरअसल, RBI ने मार्च में कहा था कि PMC बैंक के रिजॉल्यूशन प्रोसेस में कुछ समय लग सकता है क्योंकि इसकी फाइनेंशियल स्थिति ठीक नहीं है। हालांकि, इसके साथ ही उसने बताया था कि इस बैंक को टेकओवर करने के लिए कुछ इनवेस्टर्स से बाइंडिंग ऑफर मिले हैं।


इसके बाद RBI ने बैंक पर लगाए गए निर्देशों की अवधि बढ़ाकर 30 जून तक कर दी थी। RBI ने दो वर्ष पहले PMC बैंक के बोर्ड को हटाकर एक एडमिनिस्ट्रेटर की नियुक्ति की थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।