Small और midcaps ने किया शानदार प्रदर्शन, BSE 500 के करीब 40 शेयरों में आया 10-60% का उछाल - small midcaps outperform over 40 bse 500 stocks rise 10-60 | Moneycontrol Hindi

Small और midcaps ने किया शानदार प्रदर्शन, BSE 500 के करीब 40 शेयरों में आया 10-60% का उछाल

बाजार जानकारों का कहना है कि निवेशकों को इंडेक्स को लेकर सतर्क रहने की जरुरत है.

अपडेटेड Feb 21, 2021 पर 4:27 PM | स्रोत :Moneycontrol.com
Small और midcaps ने किया शानदार प्रदर्शन, BSE 500 के करीब 40 शेयरों में आया 10-60% का उछाल

19 फरवरी को समाप्त हफ्ते में नया रिकॉर्ड छूने के बाद भारतीय बाजारों में मुनाफावसूली देखने को मिली। हालांकि PSU बैंकों की रैली ने बाजार को काफी हद तक संभालने का काम किया।

बीते हफ्ते S&P BSE Sensex 51,000 के नीचे फिसल गया। वहीं Nifty50 15000 के स्तर के नीचे आ गया। हालांकि इसी हफ्ते के शुरुआत में बाजार ने नया हाई भी बनाया।

19 फरवरी को समाप्त हफ्ते में सेसेंक्स और निफ्टी में 1 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली। हालांकि BSE midcap और  smallcap इंडेक्स ने 0.63 फीसदी और 1.23 फीसदी की बढ़त के साथ आउटपरफ़ॉर्म किया।

बीते हफ्ते  S&P BSE 500 इंडेक्स में 0.5 फीसदी की गिरावट देखने को मिली लेकिन इसमें शामिल 45 शेयर ऐसे रहे जिनमें 10 से 60 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली। इन शेयरों में ndian Overseas Bank, Central Bank of India, Bank of Maharashtra, General Insurance Corporation of India, Bank Of India, New India Assurance Company और Adani Total Gas के नाम शामिल हैं।

कुछ सरकारी बैंकों और इंश्योरेंस कंपनियों के निजीकरण की खबर ने बाजार को सपोर्ट किया जिससे बाजार की गिरावट सीमित रही। जानकारों का कहना है कि कमजोर ग्लोबल संकेतों और बाजार में बढ़ती अस्थिरता के कारण निवेशक साइड लाइन रहे और कंसोलिडेशन का दौर जारी रहा,निफ्टी 15000 के नीचे फिसल गया।

Kotak Securities के रश्मिक ओझा (Rusmik Oza) का कहना है कि ब्रॉडर मार्केट यानी  NSE midcap 100 और  BSE smallcap इंडेक्स दोनों इस हफ्ते हरे निशान में रहे। अमेरिका में  10-year बॉन्ड यील्ड बढ़कर 1.2 फीसदी के आसपास आ गई है। वहीं भारत में  भी  10-year बॉन्ड यील्ड बढ़ोतरी देखने को मिली है जिसकी अहम वजह वित्तीय घाटे का बढ़ा अनुमान हो सकता है।

उन्होंने आगे कहा कि घरेलू 10-year बॉन्ड यील्ड के 6-6.75 फीसदी के रेंज में रहने की उम्मीद थी। अब हमें यह देखना होगा कि क्या निफ्टी नियर टर्म में 15000 का स्तर होल्ड कर पाएगा कि नहीं। उन्होंने आगे कहा कि  निफ्टी के लिए आगे अगला बड़ा सपोर्ट इसके 50-DMA या 14321 के स्तर पर है।

LKP Securities के Rohit Singre का कहना है कि निफ्टी ने 15000 का अपना मजबूत सपोर्ट तोड़ दिया है। अब यह स्तर इसके लिए सबसे नजदीकी रजिस्टेंस का काम करेगा। अगर निफ्टी फिर 15000 से ऊपर चला जाता है तो हमको कुछ राहत मिल सकती है लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो हमें निफ्टी में नीचे की तरफ 14900-14750 का स्तर देखने को मिल सकता है। वहीं ऊपर की तरफ  15,100-15,170 निफ्टी के लिए मजबूत रजिस्टेंस का काम करेंगे।

19 फरवरी को खत्म हुए हफ्ते में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 4408.26 करोड़ रुपए की खरीदारी की जबकि घरेलू फंडों ने 6,283.73 करोड़ रुपए की बिकवाली की। फरवरी में अब तक  FIIs ने 23,874.67 करोड़ रुपए की खरीदारी की है। वहीं, DIIs ने 16,638.46 करोड़ रुपए की बिकवाली की है।

टेक्निकल आउटलुक

भारतीय बाजारों की चाल ग्लोबल बाजारों खासकर अमेरिकी बाजारों के अनुरुप ही रही है। ग्लोबल बॉन्ड यील्ड में एकाएक आई बढ़त ने बाजार के लिए बड़ी बाधा का काम किया और  इक्विटी बाजार के जोश को ठंडा कर दिया। बाजार जानकारों का कहना है कि निवेशकों को  इंडेक्स को लेकर सतर्क रहने की जरुरत है। इसके साथ ही ग्लोबल बाजार की किसी बड़ी हलचल पर नजर बनी रहनी चाहिए।

Samco Securities की Nirali Shah ने कहा कि किसी बड़े ट्रिगर के अभाव में बाजार के सुस्त और रेंज बाउंड रहने की उम्मीद है। इस मौके को निवेशकों को पोर्टफोलियों में अच्छे क्वालिटी स्टॉक शामिल करने और कमजोर स्टॉक्स को छाटने के अवसर के रुप में देखना चाहिए। निवेशकों को गिरावट पर क्वालिटी स्टॉक को अपने पोर्टफोलियों में शामिल करना चाहिए।

मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सार्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Feb 20, 2021 12:35 PM

हिंदी में शेयर बाजार, Stock Tips,  न्यूजपर्सनल फाइनेंस और बिजनेस से जुड़ी खबरें सबसे पहले मनीकंट्रोल हिंदी पर पढ़ें. डेली मार्केट अपडेट के लिए Moneycontrol App  डाउनलोड करें।