UP Board Exam: कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा रद्द, 90 मिनट की 12वीं की बोर्ड परीक्षा रखने का प्रस्ताव

UP Board Exam: शिक्षा बोर्ड ने 12वीं की परीक्षा के जुलाई के दूसरे हफ्ते में प्रस्ताव रखा है। जिसमें 90 मिनट की परीक्षा होगी
अपडेटेड May 31, 2021 पर 10:15  |  स्रोत : Moneycontrol.com

UP Board Exam: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UP Secondary Education Council - UPSEC) ने कोरोना वायरस (COVID19) महामारी के कारण मौजूदा हालात को देखते हुए कक्षा 10वीं (UP Board Matric exam 2021) की परीक्षा रद्द करने का फैसला किया है।


UP बोर्ड ने कक्षा 2वीं (UP Board Inter exam 2021) क्लास के एग्जाम जुलाई 2021 के दूसरे हफ्ते में 90 मिनट की परीक्षा लेने का प्रस्ताव रखा है। शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते विषम परिस्थितियों में भी माध्यमिक शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश हमेशा छात्रों के हित में काम कर रहा है।


उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा (Dinesh Sharma) ने कहा है कि 12वीं की परीक्षा की समय सारिणी (examinations scheduled) जल्द ही घोषित की जाएगी। उन्होंने एक आधिकारिक बयान में कहा है कि 10वीं की परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया गया है। इससे 29.94 से अधिक छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा।


मंत्री ने आगे अपने बयान में कहा कि अगर हालात सही रहे तो 12वीं की परीक्षाओं के महत्व को देखते हुए जुलाई के दूसरे हफ्ते में कराने का प्रस्ताव दिया गया है। UPSEC का यह फैसला CBSE बोर्ड की तरह है। जिसमें 10वीं परीक्षा रद्द कर दी गई है और 12वीं की परीक्षाएं कराने के लिए विचार किया जा रहा है।


शर्मा ने कहा कि इंटरमीडिएट की परीक्षा पहले की तरह इस साल भी 15 वर्किंग डेज (working days) में परीक्षाएं करा ली जाएंगी। छात्रों के हित में प्रदेश सरकार ने फैसला लिया है कि प्रश्नपत्र की अवधि को सिर्फ 90 मिनट (डेढ़ घंटे) रखा जाएगा और छात्रों को प्रश्नपत्र में दिए गए 10 प्रश्नों में से किन्ही 3 प्रश्नों का जवाब देने की स्वतंत्रता होगी।


बच्चों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए इस वर्ष केंद्रों की संख्या में इजाफा किया गया है। परीक्षा का पूरा रिवाइज्ड शेड्यूल बोर्ड बाद में आधिकारिक वेबसाइट पर घोषित करेगा। कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा के लिए इस साल कुल 26,10,316 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।


कोरोना वायरस चलते राज्य में अब कक्षा 6 से लेकर 11वीं तक सभी छात्रों को बिना परीक्षा के अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा। डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा (Deputy CM Dinesh Sharma) ने बताया कि, कक्षा 6, 7 ,8 के छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। वहीं कक्षा 9वीं और 11वीं के छात्रों को उनकी वार्षिक परीक्षा परिणाम के आधार पर अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।